ओबामा ने जारी की स्वच्छ ऊर्जा योजना

इमेज कॉपीरइट GETTY IMAGES

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने जलवायु परिवर्तन पर एक नई योजना की घोषणा की है जिसे उन्होंने इस बारे में अब तक की सबसे बड़ी योजना और महत्वपूर्ण क़दम बताया है.

इस संशोधित स्वच्छ ऊर्जा योजना का मक़सद अमरीकी पॉवर स्टेशनों से ग्रीनहाउस गैसों के उत्सर्जन को 15 साल के भीतर एक तिहाई तक कम करना है.

इसके तहत पवन ऊर्जा और सौर ऊर्जा जैसे साधनों पर ख़ास ध्यान दिया गया है. इसके अलावा ऊर्जा के दूसरे नवीनीकरण स्रोतों को भी इस्तेमाल में लाने की बात की गई है.

हालांकि बिजली उद्योग से जुड़े इस योजना के विरोधी इसके ख़िलाफ़ लड़ने का मन बना चुके हैं.

चुनौती

इमेज कॉपीरइट EPA

नई योजना को जारी करते हुए ओबामा ने कहा, “मैं समझता हूं कि कोई भी चुनौती धरती के भविष्य के ख़तरे से बढ़कर नहीं हो सकती.”

लेकिन विरोधियों का कहना है कि ओबामा ने ‘कोयले पर युद्ध’ की घोषणा कर दी है. अमरीका की कुल बिजली आपूर्ति का क़रीब एक तिहाई हिस्सा कोयला से चलने वाले बिजली घरों से आता है.

संशोधित योजना के तहत बिजली घरों को साल 2030 तक कार्बन उत्सर्जन में 2005 की तुलना में 32 फ़ीसद की कमी लानी है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार