पाकिस्तान: बाल यौन शोषण में 13 गिरफ़्तार

पाकिस्तान बाल यौन शोषण के आरोपी इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption पुलिस का कहना है कि वीडियो में दिख रहे सात अभियुक्तों को गिरफ़्तार किया गया है.

पाकिस्तान में बच्चों के साथ कथित तौर पर यौन शोषण और उत्पीड़न के आरोप में 13 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है.

ये स्कैंडल कसूर के नज़दीक एक गांव का है.

रिपोर्टों के मुताबिक हुसैन ख़ान वाला गाँव में चौदह साल से कम उम्र के क़रीब 280 बच्चों का यौन शोषण किया गया और वीडियो बनाए गए.

स्थानीय पुलिस अधिकारी शहजाद सुल्तान ने बताया कि पुलिस को मिले 30 वीडियो में नौ बच्चों के साथ यौन दुर्व्यवहार किया गया है और उनके वीडियो क्लिप के माध्यम से ही इसमें शामिल सात आरोपियों को हिरासत में लिया गया.

क्षेत्रीय पुलिस अधिकारी का कहना था कि वीडियो सामने आने के बाद इस बात का कोई मतलब नहीं है कि इसमें आरोपी और पीड़ितों के बीच सहमति थी.

सैंकड़ों बच्चों के यौन उत्पीड़न की रिपोर्टों के बाद पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री शाहबाज़ शरीफ़ ने न्यायिक जाँच के आदेश दिए हैं.

स्थानीय मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक एक गैंग बच्चों का यौन शोषण करते हुए वीडियो बनाता था और फिर उनके अभिभावकों को ब्लैकमेल किया जाता था.

संवाददाताओं का कहना है कि बहुत से पीड़ितों ने अपने शोषण की शिकायत नहीं की है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption पंजाब प्रांत में लोगों ने बाल यौन शोषण स्कैंडल के विरोध में प्रदर्शन भी किए हैं.

आम बात है बच्चों का यौन शोषण

बीबीसी संवाददाता शायमा ख़लील के मुताबिक पाकिस्तान के ग्रामीण इलाक़ों में बच्चों का यौन शोषण आम बात है.

एक अनुमान के मुताबिक साल 2014 में बाल यौन शोषण के क़रीब साढ़े तीन हज़ार मामले दर्ज किए गए. इनमें से 67 प्रतिशत ग्रामीण इलाक़ों से थे.

इसी बीच, ये बात भी सामने आ रही है कि जो वीडियो सामने आए हैं उनमें से अधिकतर साल 2009-11 के बीच के हैं.

ये वही समय था जब कैमरा मोबाइल फ़ोन पाकिस्तान में आम चलन में आए थे. कुछ हालिया मामले भी सामने आए हैं.

ब्लैकमेल

कुछ लोगों को इस बात का भी संदेह है कि स्थानीय विवादों के कारण ये वीडियो पुलिस को सौंपे गए हैं.

एक पीड़ित लड़के ने बीबीसी उर्दू को बताया कि पाँच साल पहले जब वो 11 साल का था तब उसका यौन शोषण शुरू हुआ.

उसने बताया कि छुपाकर लगाए गए कैमरों के सामने उसका शोषण किया गया और एक सप्ताह बाद उसे वीडियो दिखाए गए.

उन्होंने लड़के से कहा कि यदि वो उनके कहे मुताबिक नहीं करेगा तो वीडियो को उसके सहपाठियों और दोस्तों को दिखा दिया जाएगा.

एक महिला ने बीबीसी को बताया कि उसके बेटे का पाँच साल तक शोषण किया गया और उसे इस बात का पता हाल ही में चला है.

महिला ने कहा, "वे उसके साथ बुरा बर्ताव करते थे और उसका मोबाइल और पैसे छीन लेते थे."

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption पुलिस का कहना है कि अभी और अभियुक्तों की तलाश की जा रही है.

और वीडियो की तलाश

ज़िले के पुलिस प्रमुख राय बब्बर सईद ने बीबीसी को बताया, "हमारे पास तीस वीडियो क्लिप हैं. हम और वीडियो की तलाश कर रहे हैं."

उन्होंने कहा कि जाँच के पीछे कोई राजनीतिक उद्देश्य नहीं है और यह सबूतों के आधार पर की जा रही है.

पिछले सप्ताह पीड़ितों के परिवारों और पुलिस के बीच हुई झड़प में बीस लोग घायल हो गए थे.

परिजनों का आरोप था कि पुलिस उनकी शिकायतों पर कार्रवाई नहीं कर रही है.

पंजाब के बाल रक्षा ब्यूरो की प्रमुख सबा सादिक़ ने इसे पाकिस्तान के इतिहास का सबसे बड़ा बाल यौन शोषण स्कैंडल कहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार