'आईएसआई ने रची थी सत्ता कब्ज़ाने की साज़िश'

पाकिस्तान सरकार में एक अहम मंत्री और प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ के क़रीबी मुशाहिदुल्लाह ख़ान ने कहा है कि पिछले साल देश की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई के प्रमुख ने सत्ता पर क़ब्ज़ा करने की साज़िश रची थी.

उन्होंने कहा कि ये योजना उस समय रची गई जब देश में तहरीके इंसाफ और अवामी तहरीक के सरकार विरोधी धरने चल रहे थे.

मुशाहिदुल्लाह ने कहा कि आईएसआई के तत्कालीन प्रमुख लेफ़्टिनेंट जनरल जहीरुल इस्लाम अब्बासी ने सैन्य और असैन्य नेतृत्व को हटा कर देश पर कब्ज़ा करना चाहा था.

हालांकि पाकिस्तानी सेना ने इस तरह की ख़बरों का खंडन किया है.

'ज़्यादा न उछालें'

मुशाहिदुल्लाह ने बताया कि इस योजना का पता उस वक़्त चला, जब इंटेलिजेंस ब्यूरो ने एक टेलीफ़ोन बातचीत टेप की जिसमें अब्बासी लोगों को निर्देश दे रहे थे कि धरने के दौरान किस तरह की अफ़रातफ़री फैलानी है और किस तरह प्रधानमंत्री हाउस पर क़ब्ज़ा करना है.

इमेज कॉपीरइट AFP

हालांकि उन्होंने इस योजना में बतौर संस्थान पाकिस्तान सेना के शामिल न होने की बात की.

दूसरी तरफ़ सैन्य प्रवक्ता मेजर जनरल आसिम बाजवा ने ट्वीट कर कहा है कि मीडिया में जिस ऑडियो की चर्चा हो रही है, उससे जुड़ी ख़बरें बेबुनियाद हैं.

एक निजी टीवी चैनल से बातचीत में केंद्रीय सूचना मंत्री परवेज़ रशीद ने भी सीनेटर मुशाहिदुल्ला के बयान का खंडन किया.

उन्होंने कहा कि मीडिया को इस बात को उछालना नहीं चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)