रिटायरमेंट कब असंभव सी लगने लगती है...

थिंकस्टॉक इमेज इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

भारत जैसे देश में जहाँ दो-तिहाई जनसंख्या 35 साल या उससे कम उम्र की है, युवा प्लान कर रहे हैं कि वे 45 या 50 साल की उम्र तक आर्थिक ज़िम्मेदारियों से लगभग मुक्त होकर, रिटायरमेंट ले सकें.

विशेषज्ञों का कहना है कि दुनिया में अनेक लोग 40 साल की उम्र से पहले रिटायरमेंट के बारे में सोचना ही शुरू नहीं करते, और देरी करते करते इतना समय बीत जाता है कि रिटायरमेंट का सोचना और घटी आमदनी में जीवन चलाने की बात चिंतित करने लगती है.

लेकिन वो ये भी बताते हैं कि यदि आप 60 साल के बाद रिटायर होने का इंतज़ार नहीं करना चाहते और 50 साल या फिर अपना 40वाँ जन्मदिन मनाते हुए, रिटायरमेंट लेना चाहते हैं, तो ये भी संभव है.

ज़्यादातर लोग सोचते हैं कि आर्थिक बंधनों से मुक्त होकर, एक रेगुलर आमदनी सुनिश्चित करते हुए, चाहे वो कम ही क्यों न हो, वो अपने पैशन, दिलचस्पी की वो चीज़े करना चाहते हैं जिन्हें वो शायद नौकरी की दौड़-धूप में कर नहीं पाए.

आखिर कम उम्र में रिटायरमेंट का क्या मतलब है?

रिटायरमेंट की उम्र अलग-अलग

पेरिस में आईएफ़ए ग्रुप की वित्तीय सलाहकार विक्टोरिया लेविस कहती हैं, “सभी अच्छी पेंशन और पैसे की चिंता को छोड़कर काफ़ी पहले रिटायर होने का सपना देखते हैं.”

गैलप पोल के मुताबिक़ अमरीका में रिटायरमेंट की औसत उम्र 61 साल है.

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

आस्ट्रेलियाई सांख्यिकी ब्यूरो के अनुसार वहाँ पिछले पांच साल में पुरुषों के रिटायर होने की औसत उम्र 61.5 से 63.3 वर्ष है और महिलाओँ की 59.6 वर्ष.

वहीं, पेरिस स्थित ऑर्गेनाइज़ेशन फ़ॉर इक्नॉमिक को-ऑपरेशन एंड डिवेलप्मेंट (ओईसीडी) के अनुसार जापान में रिटायरमेंट की औसत उम्र 69.1 साल है, जबकि लक्ज़मबर्ग में ये 57.6 साल है.

बैंगलूरू स्थित वित्तीय कंपनी मनी मैटर्स की संस्थापक और सीईओ लवली नवलख़ी कहती हैं, “लेकिन भारत जैसे कुछ देशों में जहाँ दो-तिहाई आबादी 35 साल या इससे कम उम्र की है, कामकाजी युवा आबादी का पहले रिटायर होने का लक्ष्य 45 या 50 साल है.”

विशेषज्ञ समय से पहले रिटायरमेंट की उम्र 55 साल से कम मानते हैं.

बचत पर ज़ोर

इमेज कॉपीरइट AFP

समय से पहले रिटायर होने का मतलब है कि आप कर्ज़मुक्त हों, आपकी बचत रिटायरमेंट के बाद की आय का 25 गुना हो या फिर आपको सरकारी पेंशन या इसी तरह का कोई दूसरा भुगतान मिलता हो.

मूल वित्तीय नियम है कि आप अपने रिटायरमेंट पोर्टफोलियो यानी बजत में से हर साल चार प्रतिशत तक रकम निकाल सकते हों.

यानी अगर आपका रिटायरमेंट पोर्टफोलियो 10 लाख रुपए का है, तो आप इससे हर साल 40 हज़ार रुपए निकाल सकते हो. ये रकम आपकी सरकारी पेंशन या दूसरी इसी तरह की नियमित आय से अलग होनी चाहिए.

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

सवाल यह है कि आप इसके लिए कितने प्रतिबद्ध हैं और कितनी जल्द आप अपने कर्ज़ों को चुका पाते हैं, और रिटायरमेंट के लिए ज़रूरी बचत कर पाते हैं.

एक अमरीकी ब्लॉगर पीट बताते हैं कि उन्होंने और उनकी पत्नी ने नौ साल तक निम्न जीवनशैली अपनाते हुए जमकर बचत की और 30 की उम्र में रिटायर हो गए.

अमरीका में वेबसाइट कैनआईरिटायर डॉटकॉम चलाने वाले डैरो किर्कपैट्रिक ने अपनी 30 की उम्र में अपने रिटायरमेंट पर फोकस करने का फैसला किया और 50 की उम्र में रिटायर होने में कामयाब रहे.

इमेज कॉपीरइट Getty

कई लोगों के लिए पहले रिटायरमेंट इसलिए असंभव हो जाती है क्योंकि वे इसके लिए काफी पहले से योजना नहीं बनाते.

अमरीका में मिसूरी स्थित सनसेट फ़ाइनेंशियल सर्विसेज़ की निवेश सलाहकार हेलेन होगान कहती हैं, “लोग 40 साल की उम्र से पहले रिटायरमेंट के बारे में सोचना शुरू नहीं करते. जितना जल्दी आप शुरू करेंगे, उतना ही अच्छा रहेगा और इसकी वजह है चक्रवृद्धि ब्याज.”

जीवनशैली में कटौती

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

जल्दी रिटायरमेंट का मंत्र है ज़्यादा बचत और कम खर्च. अभी आप आलीशान घर, लगज़री कार और महँगी छुट्टियों पर जितना कम खर्च करेंगे, आपके पास कर्ज़ चुकाने और बचत के लिए उतने अधिक पैसे होंगे.

पीट कहते हैं, “ये कुल मिलाकर अपने खर्चे घटाने के मामला है. मैं इसे इस तरह कहना चाहूंगा, कि औसत जीवनशैली से कुछ कमतर जीवन गुजारें.”

घर का कर्ज़ जल्दी चुकाएं. जितना जल्दी आप इसे चुकाएंगे, उतनी ही जल्दी ये रकम आपकी बचत में जुड़ने लगेगी.

समय से पहले रिटायरमेंट लेने वाले कई लोगों के लिए ‘रिटायरमेंट’ का मतलब काम से पूरी तरह छुट्टी नहीं है. आमतौर पर ऐसे लोग पूर्णकालिक काम को छोड़कर अपनी इच्छा या पसंद का कुछ घंटों का काम करते हैं.

परिवार का ख़याल रखें

होगान कहती हैं, “योजना ये है कि वे रिटायरमेंट के बाद अगले 10 से 15 साल तक काम करेंगे, लेकिन धीमे-धीमे.”

इमेज कॉपीरइट Getty Images

होगान कहती हैं कि रिटायरमेंट पोर्टफोलियो में अपने परिवार का खयाल ज़रूर रखें. वो कहती हैं, “रिटायरमेंट का काफी पैसा बच्चे और पोता-पोती पर ख़र्च हो जाते हैं.”

सुनिश्चित करें कि आप समय से पहले रिटायरमेंट के लिए तैयार हैं.

क्या आपके पास अपनी रिटायरमेंट की योजना है और आप अपनी नौकरी को अलविदा कहने के लिए तैयार हैं?

अपनी प्रस्तावित रिटायरमेंट सैलरी पर 12 महीने गुजारने की कोशिश करें और देखें कि क्या ये संभव हो पा रहा है. होगान कहती हैं, “इसे खेल बना ले. जितना हो सके उतनी बचत करें.”

अंग्रेज़ी में मूल लेख यहां पढ़ें, जो बीबीसी कैपिटल पर उपलब्ध है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार