हम किससे मिलें, ये भारत ना बताए: पाक

नवाज़ शरीफ़, राहिल शरीफ़ इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तान ने भारत प्रशासित कश्मीर के अलगाववादी नेताओं से ना मिलने की भारतीय सलाह को ठुकरा दिया है.

ये फ़ैसला शुक्रवार को प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ की अध्यक्षता में इस्लामाबाद में हुई एक बैठक में लिया गया.

इसमें थलसेना प्रमुख जनरल राहिल शरीफ़, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सरताज अज़ीज़ के अलावा मंत्रिमंडल के कुछ सदस्यों ने भी हिस्सा लिया.

'भारत को अधिकार नहीं'

इमेज कॉपीरइट PTI

बैठक में मौजूद रहे पाकिस्तान के सूचना मंत्री परवेज़ रशीद ने बाद में पत्रकारों से बात करते हुए कहा, "भारत, पाकिस्तान को यह बताने का अधिकार नहीं रखता कि हम किस की मेज़बानी करें और किसकी नहीं."

इसके पहले भारत के विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान को सलाह दी थी कि पाकिस्तान के सुरक्षा सलाहकार सरताज अज़ीज़ का हुर्रियत प्रतिधिनियों से मिलना उचित नहीं.

परवेज रशीद ने कहा कि भारत का यह आग्रह इस वार्ता में उदासीनता को दर्शाता है.

पाकिस्तान ने भारत के सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से मुलाकात से पहले हुर्रियत नेताओं को सरताज अज़ीज़ से मिलने का न्यौता दिया था.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय से जारी एक बयान में कहा गया है कि पाकिस्तान ने भारत को, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के बीच होने वाली बैठक के लिए एक व्यापक एजेंडा भी प्रस्तावित किया है जिसमें कश्मीर और आतंकवाद सहित कई मुद्दों पर बातचीत शामिल है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार