तालिबान ने अहम शहर पर किया कब्ज़ा

इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीकी सेना के हवाई हमलों के बावजूद तालिबान लड़ाकों ने रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण और नेटो के एक पूर्व अहम ठिकाने हेलमंद प्रांत के मूसा क़ला पर कब्जा कर लिया है.

यह हेलमंद प्रांत का दूसरा ज़िला मुख्यालय है, जो हाल के दिनों में तालिबान के हाथों में चला गया है. तालिबान ने पहले नवज़ाद पर कब्ज़ा कर लिया था.

साल 2001 में अमरीका के नेतृत्व में शुरू हुए हमले के बाद से मूसा क़ला में कुछ बहुत ही भयानक लड़ाइयां हुई हैं.

कब्ज़े की लड़ाई

शनिवार को अमरीकी सुरक्षा बलों ने मूसा क़ला के आसपास तीन हवाई हमले किए थे. इनमें क़रीब 40 तालिबान लड़ाकों की मौत हो गई थी.

लेकिन बाद में तालिबान ने संगठित होकर अफ़ग़ान सुरक्षा बलों को पीछे खदेड़ दिया.

इमेज कॉपीरइट Getty

गवर्नर मोहम्मद शरीफ़ ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स से कहा कि बुधवार सुबह तालिबान ने हर तरफ से हमला किया. इसके बाद से हमने ज़िले को छोड़ दिया.

उन्होंने कहा, ''हमने कई दिन पहले और सुरक्षा बलों की मांग की थी. लेकिन कोई नहीं आया. इस वजह से ऐसा हुआ.''

दक्षिण हेलमंद प्रांत में बुधवार को हुए एक हमले में नेटो के दो सैनिक मारे गए थे. अभी यह नहीं पता चल पाया है कि मारे गए सैनिकों की राष्ट्रीयता क्या थी.

मूसा क़ला पर एक समय तालिबान की पकड़ मज़बूत थी. यह शहर अफीम के कारोबार का मुख्य केंद्र भी था. लेकिन स्थानीय तालिबान कमांडर मुल्ला सलाम के विद्रोह ने पश्चिमी बलों के काम को आसान कर दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार