ऑस्ट्रिया: प्रवासियों के लिए 'आपात कदम होंगे खत्म'

प्रवासी संकट इमेज कॉपीरइट Reuters

ऑस्ट्रिया का कहना है कि उसने हंगरी से पश्चिमी यूरोप जाने वाले प्रवासियों की यात्रा सरल बनाने के लिए जो आपात कदम उठाए थे, उन्हें वो धीरे धीरे खत्म करने की योजना बना रहा है.

इस बीच कई प्रवासी हंगरी से ऑस्ट्रिया और जर्मनी की तरफ रवाना हुए.

एक छोटी नाव में ग्रीस जाने के लिए सवार 114 सीरियाई प्रवासियों को साइप्रस के पास समुद्र तट पर बचाया गया.

इमेज कॉपीरइट Reuters

ऑस्ट्रिया के चांसलर वर्नर फेमैन ने कहा है कि प्रवासियों की समस्या से निपटने के लिए उठाए गए तात्कालिक उपायों को एक एक करके खत्म किया जाएगा.

पिछले कुछ दिनों से हंगरी, ऑस्ट्रिया और जर्मनी ने शरणार्थियों के लिए बने डबलिन रेगुलेशन के नियमों में ढील दी थी लेकिन इन नियमों में ढील देने का मतलब है कि इस सप्ताहांत में हज़ारों प्रवासी हंगरी से ऑस्ट्रिया और जर्मनी पहुंच चुके होंगे.

ज्यादातर प्रवासी जर्मनी जा रहे हैं. जर्मनी का भी कहना है कि प्रवासियों को मदद करने की उसकी इच्छा का बेजा फायदा ना उठाया जाए.

बीबीसी संवाददाता बैथनी बैल के मुताबिक ऑस्ट्रिया अब चाहता है कि अन्य यूरोपीय देश भी प्रवासियों का बोझ साझा करें और ये व्यवहारिक भी है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

ऑस्ट्रिया के एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में हंगरी के प्रधानमंत्री विक्तोर ओर्बान ने भी ऑस्ट्रिया से अपील की कि वह प्रवासियों के लिए अपनी सीमा को अब बंद कर दे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार