दफ़्तर में काम पूरा नहीं होने की विचित्र वजहें

इमेज कॉपीरइट BBC Capital

दफ़्तर में सही समय पर न पहुँच पाने या फिर समय पर काम पूरा न कर पाने के कई कारण हो सकते हैं.

कई लोग तो ऐसे बहाने भी लगाते हैं जो बिलकुल नामुमकिन लगते हैं- 'मेरी प्रिज़ेंटेशन कुत्ता खा गया या लैपटॉप बस में छुट गया, आदि...'

लेकिन असल बात ये है कि मैनेजर को ईमानदारी से, सच्ची बात बता देने से वो शायद आप पर ज़्यादा भरोसा करे क्योंकि असलियत कई मामलों में कल्पना से भी ज्यादा विचित्र होती है.

बीबीसी कैपिटल ने क्योरा वेबसाइट के यूजर्स से पूछा कि काम के लिए समय पर न पहुँचने या फिर काम पूरा न कर पाने की उन्होंने सबसे विचित्र वजहें क्या क्या दी हैं.

मेडकिल इमरजेंसी...

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

उद्यमी ब्रैंडन ली ने बताया कि एक बार वे पूर्व निर्धारित लंच की मीटिंग में शामिल नहीं हो पाए. उन्होंने इसके लिए साफ़ बात करना बेहतर समझा और दूसरे व्यक्ति को बताया, "मुझे इमरजेंसी रूम में ले जाना पड़ा है क्योंकि मैंने गलती से खुद को स्टेपल गन से जख्मी कर लिया है." वो कहते हैं कि उनके पास आज भी वो स्टेपल है.

कुछ प्रतिबद्ध कर्मचारी भी होते हैं, जो अपनी नौकरी के प्रति इतने प्रतिबद्ध होते हैं कि वे मेडिकल इमरजेंसी में भी अपने काम का प्लान नहीं बदलते.

मीरा जास्लोव ने काम पर नहीं आ पाने की विचित्र लेकिन सच्ची वजह बताते हुए फ़ोन किया, "सॉरी, इस बैठक को नए सिरे से निर्धारित करना पड़ेगा क्योंकि गर्भावस्था में मेरी वाटर ट्यूब फ़ट गई है."

मीरा का बेबी दो सप्ताह लेट था और उन्होंने सोचा कि एक मीटिंग रख ली जाए. ऐसे में जास्लोव को इस मेडिकल इमरजेंसी और लेबर के बारे में पति, मां और डॉक्टर से पहले, एक अंजान व्यक्ति को बताना पड़ा जो एक बिज़नेस क्लाइंट था.

कचरे के ढेर से फ़ोन

केट स्कॉट बताती हैं कि एक बार उन्हें अपने बॉस को कचरे के ढेर से फ़ोन करना पड़ा. स्कॉट ने उन्हें फ़ोन पर बताया कि वह लंच ब्रेक के बाद काम पर नहीं लौट सकती हैं क्योंकि वह अपार्टमेंट के बाहर कचरे फेंकने की जगह में दाखिल हुईं और दरबाज़ा पीछे से लॉक हो गया और वे फंस गई हैं.

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

स्कॉट की बॉस ने अपने एक मित्र को फ़ोन किया जो 20 मिनट गाड़ी चलाकर उन तक पहुँचा और उसने दरवाजा खुलवा कर स्कॉट को बाहर निकाला. स्कॉट कहती हैं, उनकी बॉस इस वजह पर लगातार हंस रही थीं और शायद उनका थैंक्यू भी वो सुन नहीं पाईं.

अमरीका के न्यू जर्सी में जॉन मिक्सन ने अपने दफ़्तर का विचित्र वाकया बताया है. दो महिला कर्मचारियों के बीच कहासुनी हो गई.

उन्होंने लिखा, "अचानक गुस्से में एक महिला इतनी तेज़ी से उठी और दरवाजे से बाहर निकली कि उसके पैरो में फंसी किसी तार की वजह से लकड़ी का बना पूरा डेस्क घिसटता हुआ दरवाज़े के बाहर कॉमनरूम में पहुंच गया."

मिक्सन के मुताबिक बिजनेस सूट और ऊंची हील्स की सैंडिल पहनने हुए डेस्क घसीटती हुई महिला बहुत ही अजीब लग रही थी लेकिन उसे इसका एहसास नहीं था.

इसके बाद प्रोजेक्ट मैनेजर ने उस महिला को बुलाया और उसे दफ्तर में काम करने को नहीं भेजा बल्कि कॉमन एरिया में चार हफ़्ते तक काम करने को कहा.

अंग्रेज़ी में मूल लेख यहाँ पढ़ें, जो बीबीसी कैपिटल पर उपलब्ध है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)