करोड़ों डॉलर का भुगतान करेगा जनरल मोटर्स

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका की कार बनाने वाली कंपनी जनरल मोटर्स ख़राब इग्निशन वाली गाड़ियों को लेकर चल रहे आपराधिक जाँच को समाप्त करने के मामले में 90 करोड़ डॉलर का भुगतान करने को तैयार हो गई है.

अमरीका की सरकार ने इस समझौते को मंज़ूरी दे दी है. अब कंपनी में एक स्वतंत्र निरीक्षक को नियुक्त किया जाएगा.

ख़राब इग्निशन को लेकर जनरल मोटर्स के ख़िलाफ़ जाँच चल रही थी. आरोप है कि एक दशक से ज़्यादा समय से वहाँ के कर्मचारियों को इस ख़राबी के बारे में जानकारी थी, लेकिन इसके बावजूद कंपनी ने लाखों कारों की जाँच नहीं की.

आरोप ये भी है कि कारों में इस ख़राबी की वजह से 100 से ज़्यादा लोगों की जान गई है. कार इग्निशन में इस ख़राबी की वजह से इंजन बंद हो सकती थी, इसका पॉवर स्टीयरिंग और ब्रेक काम नहीं करते थे और एयरबैग्स भी समय पर नहीं खुलते थे.

नाकामी

इमेज कॉपीरइट Getty

जनरल मोटर्स ने माना है कि उसने रेग्यूलेटर्स और लोगों को इस बारे में सावधान नहीं किया और समय पर गाड़ियों को वापस लेने में भी नाकाम रहे.

गुरुवार को मैनहटन फ़ेडरल कोर्ट में दाखिल किए गए दस्तावेज़ों से इस समझौते की जानकारी मिली.

अमरीकी की सबसे बड़ी कार बनाने वाली कंपनी ने फरवरी 2014 तक दुनियाभर से 26 लाख कारों को वापस बुलाने की प्रक्रिया शुरू नहीं की थी. कंपनी ने वर्षों तक ये स्वीकार नहीं किया कि कारों में कोई समस्या है.

ऐसी ख़राबी वाली कारों को जैसे ही कंपनी ने वापस लेना शुरू किया, वर्ष 2014 के अंत तक ऐसे कारों की संख्या तीन करोड़ तक पहुँच गई.

कंपनी ने मुआवज़े के लिए एक फंड भी बनाया ताकि ऐसे ग्राहकों को पैसा दिया जा सके, जिन्हें इस ख़राबी के कारण किसी तरह का नुक़सान उठाना पड़ा हो.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार