क्रोएशिया ने प्रवासियों को हंगरी भेजना शुरू किया

प्रवासी इमेज कॉपीरइट Reuters

यूरोपीय संघ में दाख़िल होने की कोशिश कर रहे प्रवासी एक देश की सीमा से दूसरे देश की सीमा पर भटकने के लिए विवश हो गए हैं क्योंकि संबंधित देशों की सरकारें प्रवासियों के संकट के समाधान पर एक राय क़ायम नहीं कर पाई हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

यूरोपीय देश क्रोएशिया ने प्रवासियों और शरणार्थियों को जगह देने की अपनी नीति बदल दी है. क्रोएशिया ने अपनी सीमा पर जुटे प्रवासियों को रजिस्टर किए बिना उन्हें बस और ट्रेन के ज़रिए हंगरी भेजना शुरू कर दिया है.

क्रोएशिया पुलिस के साथ प्रवासियों की झड़प

इमेज कॉपीरइट EPA

हंगरी ने इसे यूरोपीय संघ के क़ानून का उल्लंघन बताया है. स्लोवेनिया भी इस वजह से क्रोएशिया से नाराज़ है.

इमेज कॉपीरइट

ख़बरें मिल रही हैं कि क्रोएशिया से लगने वाली अपनी सीमा पर हंगरी अब बाड़ लगा रहा है और प्रवासियों की नई खेप को ऑस्ट्रिया रवाना कर रहा है.

हंगरी-सर्बिया सीमा पर प्रवासी और पुलिस आमने-सामने

इमेज कॉपीरइट Reuters

प्रवासियों के संकट पर चर्चा के लिए अगले हफ्तें यूरोपीय संघ की दो बैठकें होने वाली हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

अधिकतर प्रवासी सीरिया, इराक़ और अफ़ग़ानिस्तान से आए हैं जहां हालत संघर्षपूर्ण हैं.

शरणार्थियों के साथ जानवरों जैसा सुलूक

इमेज कॉपीरइट AFP

इस हफ्ते की शुरुआत में हज़ारों प्रवासियों ने सर्बिया से क्रोएशिया में दाख़िल होना शुरू किया था क्योंकि हंगरी ने सर्बिया से लगने वाली अपनी सीमाओं को बंद कर दिया था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

क्रोएशिया ने पहले कहा था कि प्रवासियों का स्वागत है लेकिन शुक्रवार को क्रोएशिया ने कहा कि वह अब और प्रवासियों को नहीं झेल सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार