'ओबामा मुसलमान हैं, अमरीकी नहीं'

डोनाल्ड ट्रंप इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप

रिपब्लिकन पार्टी के नेता डोनल्ड ट्रंप की आलोचना हो रही है क्योंकि उन्होंने अपने एक समर्थक की टिप्पणी की आलोचना नहीं की.

इस समर्थक ने कहा था कि ओबामा मुसलमान हैं और "अमरीकी भी नहीं हैं".

डोनाल्ड ट्रंप ने इस टिप्पणी को हंस कर रफ़ा-दफ़ा कर दिया था.

इससे पहले उस समर्थक ने कहा था, " इस देश में एक समस्या है, और उसका नाम है मुसलमान."

न्यूहैंपशायर में डोनल्ड ट्रंप की चुनावी रैली के दौरान ये टिप्पणियां की गईं.

हंस कर टाल दी बात

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ट्रंप की चुनावी रैली

रैली में पहला सवाल करने वाले व्यक्ति की तरफ इशारा करते हुए अरबपति कारोबारी डोनल्ड ट्रंप ने कहा, "मुझे ये शख्स पसंद है."

तब इस व्यक्ति ने कहा, "हमारे देश में एक समस्या है जिसका नाम है मुसलमान. हम जानते हैं कि हमारे मौजूदा राष्ट्रपति एक (मुसलमान) हैं. जानते हैं, वो तो एक अमरीकी भी नहीं हैं."

इस पर ट्रंप ने हंसते हुए कहा, "क्या इस सवाल की ज़रूरत है?"

उस शख्स ने बोलना जारी रखा, "बहरहाल, हमारे यहां प्रशिक्षण केंद्र बढ़ते जा रहे हैं जहां वो हमें मारना चाहते हैं. यही मेरा सवाल हैः हम कब उनसे छुटकारा पा सकते हैं?"

ट्रंप ये स्पष्ट नहीं कर सके कि राष्ट्रपति ओबामा एक इसाई अमरीकी हैं.

इसकी बजाए उन्होंने जबाब दिया, "बुरी चीज़ें हो रही हैं" और आश्वासन दिया कि वो इस मामले पर ग़ौर करेंगे.

सोशल मीडिया पर आलोचना

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption हिलेरी क्लिंटन ने ट्विटर पर ट्रंप की आलोचना की

इस मुद्दे पर सोशल मीडिया में डोनल्ड ट्रंप की आलोचना में हिलेरी क्लिंटन भी इस ट्वीट के साथ शामिल हो गईं. उन्होंने लिखा, "डोनल्ड ट्रंप मुसलमानों के बारे में नफरत भरी बातों की निंदा नहीं कर पाए, ये परेशान करने वाला और बिल्कुल ग़लत है."

डेमोक्रेटिक नेशनल कमेटी की अध्यक्ष डेबी वासरमेन ने कहा कि ट्रंप के "नस्लवाद की कोई सीमा नहीं."

उधर ट्रंप के कैम्पेन मैनेजर कोरी लिवान्डोस्की ने इस पूरी घटना को ज़्यादा तवज्जो ना देने की कोशिश की और अमरीकी मीडिया से कहा कि ट्रंप सिर्फ प्रशिक्षण केंद्रों के बारे में सवाल ही सुन पाए.

लिवान्डोस्की ने वाशिंगटन पोस्ट को बताया, "मीडिया इस मुद्दे को ओबामा से जोड़ना चाहती है. इससे बड़ा मुद्दा ये है कि ओबामा ने इस देश में इसाईयों के खिलाफ एक लड़ाई छेड़ दी है."

ओबामा पर सवाल

इमेज कॉपीरइट AFP

राष्ट्रपति ओबामा हमेशा खुल कर अपनी इसाई आस्था के बारे में बोलते रहे हैं. उनकी मां अमरीकी और पिता कीनिया मूल के हैं.

लेकिन ट्रंप उन लोगों में अग्रणी हैं जिन्होंने राष्ट्रपति ओबामा को 2011 में अपना जन्म प्रमाणपत्र दिखाने के लिए कहा था जो राष्ट्रपति ने दिखाया भी था.

अभी अमरीका में राष्ट्रपति चुनाव होने में करीब एक साल का वक़्त है.

लेकिन पेशे से व्यापारी ट्रंप रिपब्लिकन पार्टी के चुनावी उम्मीदवारों में अभी तक आगे चल रहे हैं जबकि उनके पास राजनीति का कोई अनुभव नहीं है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार