ड्रग्स तस्करी के मुख्य केंद्रों में भारत भी

नशीले पदार्थों का सेवन और तस्करी पूरे विश्व के लिए एक बड़ी चुनौती बनती जा रही है.

इसी महीने के शुरू में अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की तरफ़ से जारी बयान के मुताबिक़, 21 देशों को नशीले पदार्थों के उत्पादन और तस्करी के मुख्य केन्द्रों के रूप में चिह्नित किया गया है.

ड्रग्स तस्करी के इन मुख्य केन्द्रों में भारत का भी नाम शामिल है.

व्हाइट हाउस द्वारा जारी किए गए बयान में बोलीविया, बर्मा और वेनेज़ुएला को ऐसे देशों के रूप में चिह्नित किया गया है जिन्होंने अपनी धरती से नशीले पदार्थों के उत्पादन और तस्करी को रोकने के लिए तय किए गए मानदंडों का पालन नहीं किया है.

संयुक्त राष्ट्र के ड्रग्स और क्राइम संस्था की ताज़ा रिपोर्ट के अनुसार जहाँ कोलंबिया, पेरू और बोलीविया कोकीन के सबसे बड़े उत्पादक हैं, वहीं अफ़ग़ानिस्तान विश्व का सबसे बड़ा अफ़ीम का उत्पादक है.

अफ़ग़ानिस्तान में हो रहे अफ़ीम के उत्पादन को भी एक बड़ी चुनौती के रूप में देखा जा रहा है और संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट को अगर देखा जाए तो पिछले 15-16 सालों से अफ़ग़ानिस्तान विश्व का सबसे बड़ा अफ़ीम का उत्पादक बना हुआ है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
इमेज कॉपीरइट BBC World Service

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार