लादेन के 'बॉडीगार्ड' को सऊदी अरब भेजा गया

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अमरीकी पर 9/11 के हमले के बाद बड़ी संख्या में संदिग्ध चरमपंथियों को ग्वांतानामो बे की जेल में भेजा गया था

अमरीकी रक्षा मंत्रालय का कहना है कि अल-क़ायदा के एक संदिग्ध सदस्य अब्दुल शलाबी को ग्वांतानामो बे की जेल से सऊदी अरब स्थानांतरित कर दिया गया है.

शालाबी के बारे में संदेह है कि वो एक समय ओसामा बिन लादेन के अंग रक्षक के तौर पर काम कर चुके हैं.

शलाबी को पाकिस्तानी सेना ने 2001 में पकड़ा था जिसके बाद उन्हें क्यूबा स्थित अमरीकी बेस ग्वांतानामो बे की जेल में भेज दिया गया था.

वो उस समय से अब तक उसी जेल में क़ैद थे. वो इसके ख़िलाफ़ लगभग 10 साल तक भूख हड़ताल पर रहे थे.

सऊदी अरब

ग्वांतानामो बे की जेल में रह रहे क़ैदियों पर पुनर्विचार करने वाली एक समिति ने सिफ़ारिश की थी कि अब शलाबी को क़ैद में रखने की कोई ज़रूरत नहीं है. शलाबी पर कभी किसी अपराध के लिए कोई मुक़दमा नहीं चलाया गया था.

अप्रैल में एक सुनवाई के दौरान उनके वकील ने कहा था कि शलाबी अपनी ज़िंदगी के बचे हुए दिन शांति से अपने परिवार के साथ गुज़ारना चाहते हैं और वो सऊदी अरब के पुर्नवास कार्यक्रम का हिस्सा बनना चाहते हैं.

इमेज कॉपीरइट

पेंटागन का कहना है कि अब भी ग्वांतानामो बे की जेल में 114 क़ैदी मौजूद हैं.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा 2017 में अपने कार्यकाल की समाप्ति से पहले ग्वांतानामो जेल को बंद करना चाहते हैं लेकिन इसके लिए अमरीकी संसद में उन्हें भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)