पहले अमरीकी दौरे पर चीनी राष्ट्रपति

इमेज कॉपीरइट

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग अपनी पहली आधिकारिक यात्रा पर अमरीका पहुंच गए हैं.

उनके इस दौरे की शुरुआत सिएटल शहर से हो रही है, जहां वो तीन दिन गुज़ारेंगे और उद्योग और तकनीक के क्षेत्र से जुड़ी महत्वपूर्ण हस्तियों से मिलेंगे.

बाद में वो वॉशिंगटन जाएंगे, जहां उनकी मुलाक़ात अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से होगी.

दोनों नेताओं की बातचीत में साइबर सुरक्षा पर मुख्य रूप से बात होने की उम्मीद है.

सहयोग की पेशकश

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका का कहना है कि साइबर संसार में चीन की जासूसी गतिविधियों के कारण दोनों देशों के रिश्ते प्रभावित हो रहे हैं.

सोमवार को शी ने इस बात से इनकार किया कि अमरीकी कंपनियों पर साइबर हमले करने वाले हैकरों को चीनी का सरकार का समर्थन प्राप्त है.

मंगलवार को अमरीकी अख़बार 'वॉल स्ट्रीट जर्नल' में लिखे लेख में चीनी राष्ट्रपति ने कहा कि हैकिंग और साइबर जासूसी गैर क़ानूनी है और चीन की सरकार का व्यावसायिक जानकारियों की चोरी से कोई लेना-देना नहीं है और न ही वो कंपनियों को ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित करती है.

लेकिन उन्होंने कहा कि चीन सरकार इस विषय पर अमरीका के साथ सहयोग बढ़ाने के लिए तैयार है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप य हां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार