अल-जज़ीरा पत्रकारों को मिस्र की माफ़ी

मुहम्मद फ़ाहमी इमेज कॉपीरइट
Image caption मुहम्मद फ़ाहमी

मिस्र में कैद क़तर के समाचार चैनल अल-जज़ीरा के पत्रकार मुहम्मद फाहमी और बहर मोहम्मद को राष्ट्रपति ने माफी दे दी है.

मोहम्मद फ़ाहमी कनाडा के नागरिक हैं जबकि बहर मोहम्मद मिस्र के हैं. ये दोनो पत्रकार उन 100 कैदियों में से हैं जिनकी रिहाई के आदेश दिए गए हैं.

मुहम्मद फाहमी और बहर मोहम्मद अल-जज़ीरा के उन पत्रकारों में से थे जिन्हें चरमपंथ को कथित बढ़ावा देने के आरोप में कैद किया गया था.

मिस्र की एक अदालत ने अल-जज़ीरा के इन पत्रकारों को गलत ख़बर प्रसारित करने और उचित परमिट न लेने का दोषी ठहराया था.

इन तीनों पत्रकारों पर प्रतिबंधित गुट मुस्लिम ब्रदरहुड की सहायता करने के आरोप लगे थे. यह तीनों ही इन आरोपों को बेबुनियाद बताते रहे हैं.

ब्रिटेन, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और संयुक्त राष्ट्र ने मिस्र में अल-जज़ीरा के तीन पत्रकारों को मिली कैद की सज़ा पर चिंताई जताई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार