हज हादसे की जांच हो : ईरान

इमेज कॉपीरइट MEHR

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने संयुक्त राष्ट्र में दिए अपने भाषण के दौरान पिछले दिनों मक्का में हज के दौरान हुए हादसे की जांच की मांग की.

हसन रूहानी ने पिछले 25 सालों में हुई इस सबसे बड़ी दुर्घटना को हृदय विदारक बताया और संयुक्त राष्ट्र से इसकी जांच कराने की मांग की.

इस हादसे में 769 लोगों की मौत हो गई थी जिनमें क़रीब 130 लोग ईरान से थे. हादसे में लगभग एक हज़ार लोग ज़ख़्मी हुए हैं.

सऊदी अरब के सबसे वरिष्ठ धार्मिक नेता ने इस हादसे को मानव नियंत्रण से बाहर बताते हुए अधिकारियों का बचाव किया था.

इमेज कॉपीरइट AP

ग्रैंड मुफ्ती शेख अब्दुल अज़ीज़ बिन-अब्दुल्ला अल-शेख ने कहा है कि मक्का में हज के दौरान हुई भगदड़ पर इंसान का वश नहीं था.

ईरान और कई अन्य देशों ने हादसे से निपटने के तरीकों को लेकर सऊदी अरब सरकार की काफी आलोचना की है. सऊदी अरब के किंग सलमान की ओर से हज यात्रियों की सुरक्षा की समीक्षा के आदेश दे दिए गए हैं.

जानकारों का कहना है कि ईरान की आलोचना के राजनीतिक मतलब भी हैं क्योंकि क्षेत्रीय प्रभाव बढ़ाने के प्रयास में सऊदी अरब के साथ उसकी तनातनी अक्सर चर्चा में रहती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार