कैलिफोर्निया में 'मोदी मेनिया'

मोदी के स्वागत की तैयारी इमेज कॉपीरइट BRAJESH UPADHYAY

कैलिफ़ोर्निया की सिलिकॉन वैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे को लेकर ख़ासी गहमागहमी है.

पिछले 33 सालों में मोदी भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं जो यहां आ रहे हैं और भारतीय समुदाय इस मौके को ऐतिहासिक बनाने की कोशिश में जुटा हुआ है.

रविवार को सैन होज़े के जाने-माने स्पोर्ट्स ऑडिटोरियम सैप सेंटर में उनके लिए स्वागत समारोह का आयोजन किया गया है.

न्यूयॉर्क के मेडिसन स्क्वॉयर गार्डन की तरह ही यहां भी कई बड़े रॉकस्टॉर अपने कार्यक्रम कर चुके हैं.

स्वागत की तैयारी

इमेज कॉपीरइट BRAJESH UPADHYAY

तीन घंटे के इस शो में नृत्य प्रदर्शन के लिए चुना गया है सिलिकॉन वैली की मोना ख़ान डांस कंपनी को जहां इलाक़े के छह बज़ार बच्चे डांस सीखते हैं.

बीबीसी से बात करते हुए मोना ख़ान ने कहा कि उन्हें तो यकीन नहीं हुआ जब उन्हें पता चला कि उनकी कंपनी को इस ऐतिहासिक मौके के लिए चुना गया है.

पंद्रह साल पहले मुंबई से एमबीए करने अमरीका आईँ मोना ख़ान ने पहले तो मैनेजमेंट की नौकरी की और शौक़िया तौर पर कुछ बच्चों को डांस सिखाने लगीं क्योंकि उन्होंने ख़ुद भी प्रशिक्षण ले रखा था.

मोना कहती हैं, "कुछ ही दिनों में डिमांड इतनी बढ़ गई कि मैंने नौकरी छोड़कर डांस कंपनी शुरू कर दी."

भारत की विविधता की झलक

इमेज कॉपीरइट BRAJESH UPADHYAY

इस डांस में भाग ले रही रीना शाह का कहना है कि मोदी के स्वागत में वो ऐसा डांस पेश कर रही हैं जो पूरे भारत की विविधता को समेटे हुए है.

वे कहती हैं, "इसमें लोक नृत्य, शास्त्रीय, गरबा, भांगड़ा सभी का मिश्रण है और इसकी शुरुआत हम योग से कर रहे हैं क्योंकि हम जानते हैं मोदीजी की योग में ख़ासी रुचि है."

'मोदी फ़ेल' के स्वर भी

गूगल, फ़ेसबुक, ऐपल, माइक्रोसॉफ्ट जैसे दिग्गज कंपनियों के प्रमुख भी उनके स्वागत में रेड कार्पेट बिछा रहे हैं और प्रधानमंत्री दो दिनों के इस दौरे में ही इन सबसे मुलाक़ात करने जाएंगे.

लेकिन जिस रास्ते से वो जाएंगे, उसी रास्ते पर उनका विरोध कर रहे सौ से ज़्यादा बुद्धिजीवियों के एक गुट ने एक बड़ा सा बोर्ड भी लगा दिया है जिस पर लिखा है, "हम मोदी की नीतियों के ख़िलाफ़ हैं."

इमेज कॉपीरइट BRAJESH UPADHYAY

इस गुट ने modifail.com के नाम से एक वेबसाइट भी शुरू कर दी है जो उनके शब्दों में मोदी के शासन में मानवाधिकारों के हनन को अमरीकी जनता के सामने रखेगा.

स्वागत समारोह के लिए चल रही रिहर्सल में इस साइनबोर्ड का ज़िक्र करने पर नृत्य में भाग ले रही रीना शाह कहती हैं उन्होंने ये बोर्ड देखा है, लेकिन ये सब राजनीति से प्रेरित है.

रीना कहती हैं, "जैसे कैलिफ़ोर्निया में हम ओबामा से प्यार करते हैं लेकिन दूसरे राज्यों में लोग उन्हें नापंसद करते हैं उसी तरह मोदी को भी पसंद और नापसंद करने वाले लोग हैं. ये तो राजनीति में होता ही है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार