'डिजिटल इंडिया तभी जब डिजिटल डिवाइड खत्म हो'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कैलिफ़ोर्निया में डिजिटल इंडिया कार्यक्रम में हिस्सा लिया है. उन्होंने सूचना प्रौद्योगिकी की बड़ी कंपनियों के प्रमुख कार्यकारी अधिकारियों से कहा कि उनके लिए भारत में काफ़ी संभावनाएं हैं और वे इसका पूरा फ़ायदा उठा सकते हैं.

उन्होंने कहा डिजिटल डिवाइड को ख़त्म किए बगैर डिजिटल इंडिया नहीं बन सकता.

मोदी के भाषण की मुख्य बातें

  • तकनीक लोगों को बेहतर मौके दे सकती है और सोशल मीडिया लोगों को मानवीय मूल्यों के आधार पर जोड़ता है.
  • तकनीक लोकतंत्र को भी मजबूत कर रही है और जनता का काम करने के लिए सरकारों को मजबूर कर रही है.
    इमेज कॉपीरइट MEAIndia
  • सरकार मोबाइल गर्वनेंस को पूरी तरह लागू करेगी. हमने नरेंद्र मोदी मोबाइल ऐप शुरू किया है. मैं इसके जरिए लोगों से अधिक आसानी से जुड़ सकूंगा.
  • डिजिटल इंडिया की मूल धारणा यह कि सरकारी दफ्तरों में काग़ज़ का इस्तेमाल ख़त्म कर दिया जाए.
  • स्वास्थ्य, शिक्षा, सेवा, पर्यावरण, ऊर्जा समेत सभी क्षेत्रों में डिजिटल इंडिया लागू किया जाएगा. देश में डिजिटल डिवाइड ख़त्म हो.
  • सरकार नेशनल ऑप्टिकल फाइबर कार्यक्रम का विस्तार करेगी. इसके तहत देश के सभी कॉलेजों को इससे जोड़ा जाएगा.
  • सरकार जल्द ही सार्वजनिक वाई फ़ाई व्यवस्था शुरू करेगी. 500 रेलवे स्टेशनों में वाई फ़ाई शुरु किया जाएगा
  • स्मार्ट सिटी बनाई जाएंगी और इससे किसानों को भी जोड़ा जाएगा ताकि उन्हें अपने उत्पादों की अच्छी क़ीमत मिल सके.
  • इस क्षेत्र में अमरीकी तकनीकी कंपनियों के लिए अपार संभावनाएं हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)