नेपाल का भारत पर आर्थिक नाकेबंदी का आरोप

नेपाल में फंसे ट्रक इमेज कॉपीरइट AFP Getty
Image caption तराई इलाक़ों में विरोध के कारण सामान से भरे ट्रक नेपाल के ऊँचे इलाक़ों में नहीं पहुँच पा रहे हैं.

नेपाल ईधन के संकट से जूझ रहा है और सरकार ने सभी अंतरराष्ट्रीय एयरलाइनों का आगाह किया है कि वो अपनी उड़ानों के लिए ईधन का इंतेज़ाम ख़ुद करें.

नेपाल के गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है कि सरकार ईधन के संकट से जूझ रही है और सभी अंतरराष्ट्रीय एयरलाइनें अपनी उड़ानों के लिए ईधन का इंतेज़ाम ख़ुद करें.

नेपाल के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के महानिदेशक संजीव गौतम ने कहा, "संभावित ईधन संकट को देखते हुए हमने अंतरराष्ट्रीय एयरलाइनों को औपचारिक रूप से स्थिति से अवगत करा दिया है."

वाहनों के संचालन के लिए भी नए नियम लागू कर दिए हैं जिनके तहत पंजीकरण संख्या के आधार पर ही वाहन सड़क पर उतर सकते हैं.

विषम पंजीकरण संख्या वाले वाहन सिर्फ़ विषम तिथि वाले दिन ही चल सकते हैं.

'अघोषित आर्थिक नाकेबंदी'

नेपाल के गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, "भारत की ओर से अघोषित आर्थिक प्रतिबंधों के चलते हमने नए नियम लागू किए हैं."

इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

राजधानी काठमांडू में अधिकतर निजी तेल पंप बंद हैं जबकि सरकार संचालित पंपों पर लंबी कतारें लगी हैं.

नेपाल-भारत सीमा पर ट्रकों को रोके जाने के कारण ज़रूरी सामानों का संकट भी पैदा हो रहा है.

भारत नेपाल के नए संविधान को लेकर खुले तौर पर एतराज़ व्यक्त कर चुका है.

नेपाल के दक्षिणी और तराई इलाक़ों में रहने वाले मधेसी लोग नए संविधान के कुछ प्रस्तावों के ख़िलाफ़ हैं.

तराई आधारित राजनीतिक दल नए संविधान के प्रस्तावों के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.

इन्हीं विरोध प्रदर्शनों के कारण नेपाल के कई इलाक़ों में सामान नहीं पहुँच पा रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार