ब्राज़ील ने बंद किए आठ मंत्रालय

जीलमा रूसेफ इमेज कॉपीरइट PR
Image caption जीलमा रूसेफ

ब्राज़ील की राष्ट्रपति जीलमा रूसेफ ने आठ मंत्रालयों को बंद कर दिया है और अपने कैबिनेट में भी कुछ बदलाव किए हैं.

यह कदम उन्होंने सरकारी ख़र्च कम करने और अपने लिए समर्थन जुटाने के लिए उठाया है. इसके साथ ही मंत्रियों के खर्च में 10 प्रतिशत की कटौती भी की गई है.

उन्होंने अपनी सहयोगी पार्टी पीएमडीबी से कई को मंत्री भी बना दिया है जिससे सदन में उन्हें कटौती के प्रस्तावों पर समर्थन मिल सके.

ब्राज़ील अब तक का सबसे बड़ा आर्थिक संकट झेल रहा है और रूसेफ की लोकप्रियता अपने सबसे निचले स्तर पर है.

अपने इस कदम पर उन्होंने कहा, "आज हमने संघीय लोक प्रशासन बनाने की तरफ पहला और बड़ कदम उठाया है. इसके लिए हमने सबसे पहले आठ मंत्रियों को हटा दिया है."

"स्थिरता आएगी"

इमेज कॉपीरइट PR
Image caption जीलमा रूसेफ

उन्होंने यह भी कहा कि कैबिनेट में जो बदलाव किए गए हैं उससे देश में राजनीतिक स्थिरता आएगी. रूसेफ ने कहा, "इसके साथ ही पार्टियों और सांसदों के बीच रिश्ते मज़बूत होंगे."

साथ ही उनकी सरकार ने इस महीने सात अरब डॉलर (क़रीब 4.56 ख़रब रुपए) के पैकेज की घोषणा की थी.

साथ ही उनकी सरकार वित्तीय लेन-देन टैक्स को दोबारा लागू करना चाहती है जिसे आठ साल पहले ख़त्म कर दिया गया था.

सरकार का अनुमान है कि इस टैक्स के ज़रिए 8 अरब डॉलर (क़रीब 5.21 ख़रब रुपए) जुटाए जा सकते हैं.

एक सर्वे के अनुसार देश को वित्तीय संकट से उभारने में नाकाम माने जाने वालीं रूसेफ की लोकप्रियता घटकर आठ प्रतिशत ही रह गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार