सीरिया, रूस, इराक़ और ईरान साथ आएं: असद

सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद

सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद ने कहा है कि अगर आतंकवाद को ख़त्म करना है तो सीरिया, रूस, इराक और और ईरान के गठबंधन को सफल होना पड़ेगा.

उन्होंने कहा कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो पूरे क्षेत्र में तबही को कोई नहीं रोक सकेगा.

असद ने अमरीकी नेतृत्व वाले गठबंधन और सीरिया और इराक़ में हो रहे उसके हवाई हमलों की भी आलोचना की.

उन्होंने कहा कि इन हमलों से सिर्फ़ चरमपंथ को बढ़ावा मिल रहा है.

समर्थन और विरोध

इमेज कॉपीरइट AFP

एक सरकारी टेलीविज़न चैनल को दिए साक्षात्कार में असद ने कहा कि अगर इस क्षेत्र से चरमपंथियों को ख़त्म करना है तो सीरिया, रूस, ईरान और इराक को एक साथ होना पड़ेगा.

उन्होंने आगे बताया, "हमें यकीन है कि हमारा गठबंधन सफल होगा. जो देश आतंकवाद का समर्थन कर रहे हैं अगर वो इसके ख़िलाफ ख़ड़े हो जाएं या उनकी मदद बंद कर दें तो हमें सफलता ज़रूर मिलेगी."

इमेज कॉपीरइट Reuters

हालांकि तुर्की और ब्रिटेन ने रूस के हवाई हमलों की आलोचना की है. वहीं तुर्की के राष्ट्रपति रेजप तइप अर्दओन का कहना है कि रूस जो कर रहा है वो उसकी बहुत बड़ी गलती है और इससे वो हाशिए पर चला जाएगा.

उन्होंने कहा, "रूस जो कर रहा है वो ख़ासकर तुर्की को नामंज़ूर है. यह बात मैंने राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन को भी कही थी जब वो रूस आए थे और कुछ दिन पहले फोन पर हमारी बात हुई थी तब भी यह बात मैंने उनको कही थी."

उन्होंने आगे कहा, "मैंने उनसे कहा था कि वो जो कर रहे हैं वो एक बहुत बड़ी गलती है और इससे वो खुद को हाशिए पर पाएंगे. मैंने उनसे कहा था कि वो तुर्की के विरोध के बावजूद ऐसा कर रहे हैं और यही हमारी चिंता है."

लंदन में प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने भी कहा है कि रूस की इस कार्रवाई से क्षेत्र में कट्टरता और आतंकवाद को बढ़ावा मिलेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार