सीरिया और तुर्की पर नैटो ने दी रूस को चेतावनी

इमेज कॉपीरइट Reuters

नैटो ने रूस को चेतावनी दी की है वो सीरिया में 'सरकार के विरोधियों' और नागरिकों पर हवाई हमले बंद कर दे.

नैटो के अनुसार रूस ख़ुद को इस्लामिक स्टेट कहने वाले चरमपंथी संगठन के ठिकानों को निशाना नहीं बना रहा है जबकि उसे उसी पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए.

वहीं रूस का कहना है कि वो आईएस गुट पर ही हमला कर रहा है. हालांकि रूस ने आधिकारिक तौर पर नैटो के आरोपों का जवाब नहीं दिया है.

लेकिन रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने कहा है कि हमले में कोई भी नागरिक नहीं मारा गया है.

हालांकि हमले के स्थान पर जो सबूत मिले हैं उससे ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि वहां नागरिकों की मौत हुई है.

सीरिया के रक्षा मंत्री का कहना है कि सोमवार को रूसी वायुसेना ने 15 हमले किए जिसमें से वो 10 लक्ष्यों को भेदने में कामयाब रहे.

नौसेना का इस्तेमाल

इमेज कॉपीरइट Yoruk Isik

वहीं रूसी सरकार की रक्षा समिति के प्रमुख व्लादीमिर कोमोयेदोव का कहना है कि रूस आईएस पर नौसेना के ज़रिए हमला करने की संभावना को नहीं नकार रहा है.

रूस की आरआईए नावोस्ती न्यूज़ एजेंसी के अनुसार युद्धपोत तैयार भी हैं लेकिन आईएस के चरमपंथी देश के बहुत अंदर छिपे हैं इसलिए फिलहाल नौसेना की मदद लेना मुमकिन नहीं है.

वहीं न्यूज़ एजेंसी इंटरफैक्स के अनुसार पूर्वी भूमध्यसागर की तरफ दो रूसी युद्धपोत रवाना भी हो चुके हैं.

रूस का विमान रोका

इमेज कॉपीरइट AFP

उधर तुर्की ने कहा है कि उसने रूस के एक लड़ाकू विमान को रोका है जो सीरियाई सीमा के पास तुर्की के हवाई क्षेत्र में घुस आया था.

तुर्की के विदेश मंत्री फेरीदुन सीनिरलियोग्लू ने रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव को फ़ोन कर इस बारे में कड़ा विरोध दर्ज कराया है.

उन्होंने रूस को चेतावनी दी है कि अगर फिर से तुर्की के वायु क्षेत्र का उल्लंघन हुआ तो रूस को इसके परिणाम भुगतने होंगे.

तुर्की के विदेश मंत्री ने नैटो देशों के मंत्रियों से भी इस मामले में बातचीत की है. 28 देशों के समूह वाले नैटे के बयान में इस तरह के गैर ज़िम्मेदाराना रवैये के प्रति आगाह किया गया है और रूस से ऐसा न करने का आग्रह किया गया है. तुर्की भी नैटो सदस्य है.

तुर्की के प्रधानमंत्री अहमत दावुतलू ने भी कड़ा संदेश दिया है.

उन्होंने कहा, "तुर्की की सेना को साफ शब्दों में ये निर्देश दिए गए हैं कि अगर कोई पक्षी भी बिना इजाज़त के हमारी सीमा में घुसता है तो उसे रोक लिया जाए."

हालांकि साथ ही उन्होंने रूस और तुर्की के बीच में किसी तरह के संघर्ष की आशंका को नकार दिया. उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच रास्ते अभी भी खुले हुए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार