'हाँ मैंने बकरे का ख़ून पिया'

इमेज कॉपीरइट Augustus Sol Invictus

अमरीकी राज्य फ्लोरिडा से सीनेट का चुनाव लड़ रहे आगस्टस सोल इनविकस ने स्वीकार किया है कि उन्होंने बकरे की बलि दी और उसका ख़ून पिया.

उनकी इस स्वीकारोक्ति के बाद से उनके विरोधी उनकी जमकर आलोचना कर रहे हैं और उन्हें फ़ासिस्ट बता रहे हैं.

इनविकस का कहना है कि उन्होंने वन देवता को खुश करने के लिए बकरे की बलि दी और उसका ख़ून पिया.

सीनेट के लिए उन्हें लिबरटेरियन पार्टी ने उमीदवार बनाया है. बताया जा रहा है कि उनके जीतने की संभावना ना के बराबर है.

लिबरटेरियन पार्टी की राज्य इकाई अध्यक्ष आद्रियन वायेली ने इनविकस की स्वीकारोक्ति पर विरोध जताते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.

फासिस्ट

यह मामला 2013 का है. इनविकस मध्य फ्लोरिडा से मोजावे रेगिस्तान की यात्रा पर थे. रास्ते में उन्होंने एक सप्ताह का उपवास किया.

फ्लोरिडा लौटकर उन्होंने ईश्वर का शुक्रिया अदा करने के लिए बकरे की बलि दी.

समाचार एजेंसी एपी से उन्होंने कहा, "मैंने जंगल के देवता को ख़ुश करने के लिए बकरे की बलि दी. हां, मैंने बकरे का खून भी पिया."

इसके बाद लिबरटेरियन पार्टी की राज्य इकाई अध्यक्ष आद्रियन वायेली ने इनविकस पर फासिस्ट होने का आरोप लगाया है.

वायेली कहते हैं, " वे एक स्वघोषित फासिस्ट हैं. अब वे दूसरे गृह युद्ध को बुलावा दे रहे हैं. उनके लिए लिबरटेरियन पार्टी में कोई जगह नहीं है."

इनविकस ने वायली के आरोप से इनकार करते हुए इसे 'स्वार्थपूर्ण अभियान' बताया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)