विश्व की दो बड़ी बीयर कंपनियां होंगी एक

इमेज कॉपीरइट Getty Images

बीयर बनाने वाली विश्व की दो सबसे बड़ी कंपनियों का जल्द ही विलय होने वाला है.

ब्रितानी कंपनी सैबमिलर ने कहा है कि उसने अमरीकी कंपनी एनहाइज़र बुश की तरफ़ से 'प्रति शेयर 44 पाउंड' की पेशकश को 'सैद्धांतिक रूप से' स्वीकार कर लिया है.

एनहाइज़र बीयर के कई लोकप्रिय ब्रांड्स का उत्पादन करती है जिनमें बडवाइज़र, स्टेला अर्तुआ और कोरोना शामिल हैं.

वहीं सैबमिलर के पेरोनी और ग्रोल्स जैसे ब्रांड बहुत मशहूर हैं.

70 अरब पाउंड की डील

इमेज कॉपीरइट PA

अगर दोनों कंपनियों के बीच क़रीब 70 अरब पाउंड की ये डील हो जाती है तो फिर उसके बाद बनने वाली नई दुनिया भर की तीस प्रतिशत बियर तैयार करेगी.

सैबमिलर की फ़ैक्टरियां 80 देशों में हैं जिनमें 70,000 लोग काम करते हैं जबकि एनहाइज़र के कर्मचारियों की संख्या एक लाख 55 हज़ार के आसपास है.

एनहाइज़र ने पहले भी सैबमिलर में हिस्सेदारी हासिल करने की कोशिश की थी लेकिन ब्रितानी कंपनी ने तब ये कहकर मना कर दिया था कि उसके शेयर के लिए दी जाने वाली क़ीमत कम है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)