'रूस निर्मित मिसाइल ने गिराया था मलेशियाई विमान'

एमएच 17 की जांच रिपोर्ट इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption एमएच 17 हादसे की जांच रिपोर्ट डच सेफ़्टी बोर्ड के चेयरमैन चिब्या योस्ट्रा ने जारी की.

नीदरलैंड के जाँचकर्ताओं के मुताबिक मलेशियाई एमएच17 यात्री विमान रूस निर्मित मिसाइल से गिराया गया था.

बीते साल जुलाई में गिराए गए विमान में 298 लोग सवार थे.

यूक्रेन और पश्चिमी देश कहते रहे हैं कि रूस समर्थक लड़ाकों ने विमान को गिराया, जबकि रूस इन आरोपों को नकारते हुए तर्क देता रहा है कि मिसाइल यूक्रेन नियंत्रित इलाक़े से दागी गई थी.

डच सेफ़्टी बोर्ड के चेयरमैन चिब्या योस्ट्रा ने नीदरलैंड्स में एक हवाई अड्डे पर हादसे की जांच रिपोर्ट जारी करते हुए बताया कि फ़ोरेंसिक सबूतों से ये साबित हुआ है कि सतह से आसमान में मार करने वाली एक बुक-6 मिसाइल बोइंग 777 विमान के कॉकपिट के पास फटी.

अमरीका, रूस की राय अलग

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका ने इस रिपोर्ट को दोषियों को सज़ा दिलाने की दिशा में मील का पत्थर बताया है.

मलेशिया के यातायात मंत्री लियो टियोंग लाई ने कहा है कि वो 'हमला करने को आतुर' अपराधियों को सज़ा दिलाकर रहेंगे.

रूस ने जाँच नतीजों को पक्षपाती बताते हुए इन्हें राजनीतिक आदेश पूरा करने का स्पष्ट प्रयास कहा है.

वहीं डच प्रधानमंत्री मार्क रूटे ने रूस से कहा है विमान गिराने के लिए ज़िम्मेदार लोगों की पहचान की जाँच में सहयोग करे.

नीदरलैंड्स के 196 लोग मरे

इमेज कॉपीरइट AFP

इस रिपोर्ट में किसी पर आरोप नहीं लगाए गए लेकिन यह कहा गया कि यूक्रेन को अपना हवाई क्षेत्र नागरिक उड़ानों के लिए बंद कर देना चाहिए था.

रिपोर्ट में कहा गया है कि मलेशिया एयरलाइन की उड़ान संख्या एमएच 17 को निशाना बनाए जाने के वक़्त तीन और नागरिक विमान उस इलाक़े में उड़ान भर रहे थे. विमान ये मानकर उड़ान भर रहे थे कि ये ऊंचाई सुरक्षित है.

17 जुलाई 2014 को एमस्टर्डम से क्वालालंपुर के लिए जा रही मलेशियन एयरलाइन की उड़ान संख्या एमएच-17 पूर्वी यूक्रेन में हादसे का शिकार हो गई थी.

इस हादसे में मारे गए 298 लोगों में से 196 नीदरलैंड्स के और 10 ब्रिटेन के थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार