अदनान सामी को भारतीय नागरिकता?

अदनान सामी इमेज कॉपीरइट srabanti chak

ख़बरों के मुताबिक़ पाकिस्तानी गायक अदनान सामी को भारतीय नागरिकता मिल सकती है.

सामी पिछले 15 सालों से भारत में रह रहे हैं और नागरिकता के लिए दो बार आवेदन कर चुके हैं.

बीबीसी ने जब ताज़ा ख़बरों के बारे में अदनान से पूछा तो वो बोले, "देखिए अभी तो ऐसी कोई सूचना नहीं है और कोई ख़बर होगी तो मैं आपको ज़रुर बताउंगा."

पहली अर्ज़ी ख़ारिज होने के बाद मार्च 2015 में अदनान ने दोबारा भारतीय नागरिकता के लिए अपील दायर की थी.

अगस्त 2015 में उनके वर्क वीज़ा के ख़त्म होने के बाद भी भारत ने उन्हें अनिश्चितकाल तक के लिए यहां रहने की इजाज़त दे दी थी.

तब उन्होंने कहा था, "मैं उम्मीद कर रहा हूं कि सरकार मेरी अपील पर जल्द ही सुनवाई करेगी और मैं सकारात्मक हूं."

इमेज कॉपीरइट MANISH SHUKLA

वो आगे कहते हैं, "मैं यहां बेहद ख़ुशी और प्यार से रह रहा हूं. ये हक़ीक़त है कि भारत में मुझे कभी कोई दिक़्क़त नहीं हुई और विरोध नहीं प्यार ही मिला है."

भारतीय नागरिकता अधिनियम के तहत किसी विदेशी को विज्ञान, दर्शन, कला, साहित्य, विश्व शांति और मानव प्रगति के क्षेत्रों में असाधारण सेवा देने पर नागरिकता दी जा सकती है और अदनान संगीत के क्षेत्र में काफ़ी समय से भारत में रह कर ही काम कर रहे हैं.

उनका आख़िरी गाना 'भर दो झोली' फ़िल्म बजरंगी भाईजान में था और काफ़ी लोकप्रिय हुआ था.

वही शिवसेना के प्रवक्ता मनीषा कायंदे ने बीबीसी से कहा, "ये मुद्दा आज ही सामने आया है और हमारे सभी नेता और उद्धव ठाकरे इस मुद्दे पर इस वक़्त मीटिंग कर रहे हैं."

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption शिवसेना पाकिस्तानी कलाकारों और खिलाड़ियों का विरोध करती रही है.

वो आगे कहती हैं, "हम शुरू से इस बात का विरोध करते आ रहे हैं और आगे भी हम इस पर क़ायम रहेंगे लेकिन पार्टी क्या क़दम उठाएगी ये अगले आदेश के बाद ही तय होगा."

शिव सेना ने हाल ही में पाकिस्तानी ग़ज़ल गायक के मुबंई में कार्यक्रम का विरोध किया था जिसके बाद उसे कैंसिल कर देना पड़ा.

वो भारत में पाकिस्तानी कलाकारों के काम करने और रहने का भी विरोध करती है.

सोशल मीडिया पर भी इस समय Adnan Sami ट्रेंड कर रहा है. कुछ लोग इसे गायक की घर वापसी मान रहे हैं तो कुछ इसे हिपोक्रेसी बता रहे.

उनका कहना है कि एक तरफ़ एक पाकिस्तानी कलाकार को भारत में परफ़ॉर्म करना मुश्किल हो जाता है और दूसरी ओर दूसरे को नागरिक दी जा रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार