रूस और यूक्रेन के बीच सीधी उड़ानें बंद

बंद हो जाएंगी रूस और यूक्रेन के बीच उड़ान इमेज कॉपीरइट

यूक्रेन और रूस के बीच सीधी उड़ानें रविवार से बंद हो जाएंगी जिससे हर महीने 70 हज़ार यात्री प्रभावित होंगे.

यूक्रेन ने रूस के ख़िलाफ़ नए प्रतिबंधों की घोषणा की है जिनमें रूसी एयरलाइनों पर पाबंदी भी शामिल है.

रूस ने पहले तो इसे 'पागलपन' बताया लेकिन फिर इसके जवाब में यूक्रेन की एयरलाइनों पर प्रतिबंध लगाने का फ़ैसला किया.

इस संकट को टालने के लिए दोनों पक्षों के बीच हुई वार्ता के नाकाम रहने के बाद यूक्रेन ने कहा है कि शनिवार मध्यरात्रि के बाद से दोनों देशों के बीच उड़ानें बंद हो जाएंगी.

इमेज कॉपीरइट

यूक्रेन ने क्राइमिया पर क़ब्ज़ा करने और पूर्वी यूक्रेन में विद्रोहियों को समर्थन देने के लिए रूस को सबक सिखाने के वास्ते उस पर प्रतिबंध लगाए हैं.

रूस का कहना है कि ऐसा करके यूक्रेन ख़ुद अपने पैर पर कुल्हाड़ी मार रहा है क्योंकि अधिकांश यात्री यूक्रेन के ही होते हैं.

लेकिन दो तिहाई यात्री रूसी एयरलाइनों से यात्रा करते हैं. रूस के परिवहन मंत्री का अनुमान है कि इससे दोनों देशों को हर साल 11 करोड़ डॉलर का नुक़सान होगा.

इस प्रतिबंध के कारण दोनों देशों के यात्रियों में नाराजगी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार