सद्दाम और गद्दाफ़ी ज़िंदा होते तो अच्छा होताः ट्रम्प

सद्दाम हुसैन इमेज कॉपीरइट .
Image caption इराक़ के पूर्व शासक सद्दाम हुसैन को फाँसी दे दी गई थी.

अमरीका में राष्ट्रपति पद की दौड़ में शामिल डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि यदि अब भी इराक़ में सद्दाम हुसैन और लीबिया में मुअम्मार गद्दाफ़ी का शासन होता तो दुनिया एक बेहतर जगह होती.

रिपब्लिकन पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की दौड़ में शामिल अरबपति व्यापारी डोनाल्ड ट्रम्प ने मध्य पूर्व में अमरीकी अभियानों को नाकामी क़रार दिया है.

उन्होंने कहा कि मध्य पूर्व का संकट अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन की नाक के नीचे और ज़्यादा बढ़ गया.

न्यूज़ चैनल सीएनएन से बात करते हुए डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि उनकी विदेश नीति अमरीकी सेना को और मज़बूत करने की होगी.

Image caption लीबिया के शासक मुअम्मार गद्दाफ़ी को विद्रोहियों ने क़त्ल कर दिया था.

उन्होंने राष्ट्रपति बराक ओबामा पर देश को बाँटने के आरोप लगाते हुए यह भी कहा कि वो अमरीकियों को एकजुट करेंगे.

हिलेरी क्लिंटन डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की दौड़ में शामिल है.

2003 में अमरीका ने इराक़ पर हमला किया था और तत्कालीन शासक सद्दाम हुसैन को पद से हटा दिया था.

बाद में सद्दाम हुसैन को फाँसी दे दी गई थी.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption अरबपति डोनाल्ड ट्रंप रिपब्लिकन पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की दौड़ में शामिल हैं.

लीबिया में कई दशकों से शासन कर रहे मुअम्मार गद्दाफ़ी को विद्रोही लड़ाकों ने क़त्ल कर दिया था.

विद्रोहियों को अमरीका और पश्चिमी देशों का समर्थन प्राप्त था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार