दिग्गजों को हरा चुकी हैं नेपाल की राष्ट्रपति

इमेज कॉपीरइट AP

नेपाल की पहली महिला राष्ट्रपति बनीं विद्या देवी भंडारी नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (यूएमएल) की उपाध्यक्ष हैं.

राष्ट्रपति के चुनाव में उन्होंने नेपाली कांग्रेस के प्रत्याशी कुल बहादुर गुरुंग को हराया. विद्या देवी को 549 में से 327 वोट और कुल बहादुर गुरुंग को 214 वोट मिले.

वो राम बरन यादव का स्थान लेंगी, जो कि 2008 में देश के पहले निर्वाचित राष्ट्रपति बने थे.

विद्या देवी भंडारी दिवंगत कम्युनिस्ट नेता मदन भंडारी की विधवा हैं. मदन भंडारी की 1993 में मौत हो गई थी.

विद्या देवी को राष्ट्रपति चुनाव में एक दर्जन से भी ज़्यादा पार्टियों का समर्थन मिला. उन्होंने अपने राजनीति जीवन की शुरुआत चार दशक पहले ही कर दी थी. लेकिन वो बहुत ज़्यादा सक्रिय नहीं थीं.

इमेज कॉपीरइट AP

मदन भंडारी की मौत के बाद वो राजनीति में ज़्यादा सक्रिय हुईं.

उस वक़्त हुए उपचुनाव में उन्होंने नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री कृष्ण कुमार भट्टराई को हराया था.

इसके एक साल बाद हुए आम चुनाव में उन्होंने दामाना धुंगाना को हराया. इसके बाद वो राजनीति में आगे बढ़ती गईं और पार्टी की उपाध्यक्ष बनीं.

वो नेपाल की रक्षामंत्री भी रह चुकी हैं. उन्हें मिलनसार स्वभाव का माना जाता है.

(बीबीसी नेपाली के महेश आचार्य से बीबीसी संवाददाता रेहान फजल से बातचीत पर आधारित)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार