प्रकाशक की हत्या 'अल क़ायदा से जुड़े गुट' ने की

इमेज कॉपीरइट ap

बांग्लादेश में सक्रिय अल- कायदा से जुड़े संगठन अंसार-अल इस्लाम ने एक संदेश में कहा है कि शनिवार को उसने ही एक प्रकाशक और दो लेखकों पर हमले किये हैं.

इस हमले में धर्मनिरपेक्ष सामग्री के प्रकाशक 43 साल के फ़ैसल आरफ़ीन दीपान की मौत हो गई जबकि दो लेखक बुरी तरह से घायल हुए हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

पुलिस ने दो घायल लेखकों के नाम रानादीप बासू और तारेक़ रहीम बताया है.

राजधानी ढाका में सशस्त्र हमलावरों ने हाल में मारे गए ब्लॉगर अविजीत रॉय के दोस्त अहमदुर रशीद तुतुल के जागृति प्रकाशन के दफ़्तर को निशाना बनाया था.

इमेज कॉपीरइट epa

समाचार एजेंसी एएफ़पी के अनुसार मारे गये प्रकाशक आरफ़ीन दीपान के पिता अब्दुल काशेम फ़ज़लूल हक़ ने शोक व्यक्त करते हुए कहा " मैंने देखा कि वह उलटा पड़ा हुआ था और वहां काफ़ी खून फैला हुआ था, उन लोगों ने इसका गला काट दिया और वह मर चुका है".

मानवाधिकार संस्था एमनेस्टी इन्टरनेशनल ने बांग्लादेश में धर्मनिरपेक्ष प्रकाशकों पर हो रहे हमलों को जानबूझकर अभिव्यक्ति की आज़ादी पर हमला बताया है.

इस साल बांग्लादेश में ब्लॉगरों की हत्या:

  • 27 फ़रवरी को अविजीत राय की हत्या
  • 30 मार्च वशीक़ुर रहमान की हत्या
  • 12 मई अनंत बिजॉय दास की हत्या
  • 7 अगस्त निलय नील की हत्या

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार