चीन ने पहला बड़ा यात्री विमान बनाया

इमेज कॉपीरइट Getty

चीन ने अपना पहला बड़ा यात्री विमान तैयार किया है जो आने वाले दिनों में बोइंग और एयरबस को टक्कर दे सकता है.

चीन ने 168 सीटों वाले और 3400 मील उड़ान भरने वाले इस बड़े विमान को शंघाई में प्रदर्शित किया है.

हालांकि विमान की पहली टेस्ट फ़लाइट साल 2016 में ही हो पाएगी लेकिन इसे विमानों के बाज़ार में व्यावसायिक रूप से अहम माना जा रहा है.

चीन के नागरिक उड्डयन प्रमुख ली जियाज़िएंग ने कहा, "एक महान देश के पास खुद का बड़ा वाणिज्यिक विमान होना चाहिए."

शंघाई एयरपोर्ट के एक कार्क्रम में उन्होंने का, "चीन का विमानन उद्योग पूरी तरह से आयात के भरोसे नहीं रह सकता है."

इमेज कॉपीरइट Getty

बीबीसी के आर्थिक मामलों के संवाददाता एन्ड्रू वॉकर का कहना है कि विमान चीन की अर्थव्यवस्था में बदलाव का संकेत है. पहले उसे सस्ते दामों में उत्पाद बनाने वाला देश समझा जाता था.

सी-919 बनाने वाली कंपनी कमर्शियल एयरक्राफ़्ट कार्पोरेशन ऑफ़ चाइना ने कहा है कि उसे 21 कपंनियों से 517 विमानों के ऑर्डर मिले हैं.

विमान बनाने वाली अमरीकी कंपनी बोइंग के मुताबिक़ अगले दो दशक में चीन को 5580 विमानों की ज़रूरत है जिसकी क़ीमत 780 अरब डॉलर होगी.

बाज़ार में चीनी कंपनी के मुख्य प्रतिद्वंदी यूरोपीय एयरबस और बोइंग हैं.

चीनी सी-919 का इंजन अमरीका की जेनरल इलेक्ट्रिक और और फ़्रांस के सैफ़्रॉन के एक संयुक्त उपक्रम ने बनाया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)