आईएस 'प्रोपोगंडा' के लिए कर रहा विमान क्रैश का दावा

मिस्र के राष्ट्रपति

मिस्र के राष्ट्रपति अब्दुल फ़तह अल-सीसी ने चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट के रूसी विमान हादसे की ज़िम्मेदारी लेने को उसके 'प्रोपोगंडा' का हिस्सा बताया है.

बीबीसी से अब्दुल फ़तह अल-सीसी ने कहा कि हादसे की वजह के बारे में अभी कुछ भी कहना जल्दबाज़ी होगी.

अब तक ये कहा जा रहा है कि एयरबस 321 सिनाई प्रायद्वीप में शनिवार को हवा में ही टूटकर बिखर गया था, जिससे इस हादसे में 224 लोगों की मौत हो गई थी.

सोमवार को कोगलिमाविया एयरलाइन्स ने कहा था कि विमान क्रैश के पीछे कोई बाहरी वजह है.

लेकिन रूस के संघीय उड्डयन एजेंसी के एलेग्ज़ेन्ड्र नेराद्को ने रूसी टीवी को बताया कि हादसे के बारे में इस तरह की बातें तथ्यों पर आधारित नहीं हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

राष्ट्रपति सीसी ने ब्रिटेन यात्रा से पहले कहा कि इस्लामिक स्टेट विमान क्रैश की ज़िम्मेदारी का दावा अपने प्रचार के लिए कर रहा है ताकि मिस्र की स्थिरता को प्रभावित कर सके.

वहीं, अमरीका क राष्ट्रीय ख़ुफ़िया निदेशक जेम्स क्लैपर ने कहा है कि क्रैश का संबंध चरमपंथियों से होने का कोई सबूत नहीं है.

उन्होंने कहा, "इसकी संभावना नहीं है लेकिन मैं इसे ख़ारिज भी नहीं करता."

इमेज कॉपीरइट AFP

विमान ने मिस्र के शर्म-अल-शेख के एक रिजॉर्ट से उड़ान भरी थी और रूस के सेंट पीटर्सबर्ग जा रहा था.

उड़ान भरने के 23 मिनटों में ही विमान हवा में बिखर गया था. इसका मलबा काफ़ी बड़े दायरे में बिखर गया था.

विमान के फ़्लाइट रिकॉर्डरों को बरामद कर लिया गया है और इनकी जांच की जा रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार