50 घंटों से मलबे में दबा किशोर ज़िंदा बचाया गया

पाकिस्तान, लाहौर, शाहिद इमेज कॉपीरइट AP

पाकिस्तान में अधिकारियों ने कहा है कि बुधवार को लाहौर में जो इमारत ढह गई थी, उसमें दबे एक किशोर को 50 घंटे बाद ज़िंदा निकाला गया है.

ये किशोर टनों सीमेंट और मलबे में दबा हुआ था. 18 साल के मोहम्मद शाहिद के परिवार ने भी उन्हें मृत मान लिया था और किसी और के शव को ग़लती से उसका समझकर दफ़ना दिया था.

इमेज कॉपीरइट AP

चार मंज़िला राजपूत पॉलिएस्टर फ़ैक्ट्री के मलबे से अब तक 37 लोेगों के शव निकाले जा चुके हैं. ये हादसा बुधवार को हुआ था.

अधिकारियों के मुताबिक जब इमारत ढही तो वहाँ 150 से ज़्यादा लोग थे.

इमेज कॉपीरइट AP

हादसे के बाद बड़े पैमाने पर राहत और बचाव कार्य चलाया गया था. कारखाने की इमारत के दो मालों पर काम हो रहा था जबकि तीसरा बनाया जा रहा था.

इमेज कॉपीरइट AP

ख़रीदारी के लिए थैले बनाने वाला यह कारखाना लाहौर शहर के बाहरी इलाक़े में सुंदर औद्योगिक एस्टेट में स्थित है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार