नेपाल: पुलिस फ़ायरिंग में दो की मौत

इमेज कॉपीरइट BRIJ KUMAR YADAV

दक्षिण-पूर्वी नेपाल के एक प्रमुख राजमार्ग पर प्रदर्शनकारियों की नाकेबंदी को जबरन हटाने की कोशिश में पुलिस कर्मियों के गोली चलाने से दो व्यक्ति मारे गए. यह प्रदर्शनकारी नेपाल में हाल ही लागू हुए नए संविधान का विरोध कर रहे थे.

समाचार ऐजेंसी एएफ़पी के अनुसार सपतारी क्षेत्र के कुछ हिस्सों में शनिवार को हुई इन झड़पों के बाद रविवार को कर्फ़्यू लगा दिया गया है.

सपतारी, नेपाल की राजधानी काठमांडू से लगभग 280 किलोमीटर स्थित है.

पुलिस ने बताया कि शनिवार देर रात उन्होंने सपतारी ज़िले के पूर्व पश्चिम राजमार्ग पर नाकेबंदी करने वाले प्रदर्शनकारियों को हटाने की कोशिश की तो उन्होंने पुलिस पर पेट्रोल बमों और ईंटों से हमला कर दिया.

समाचार ऐजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक़ एक प्रदर्शनकारी बहारदा के इलाक़े में पुलिसकर्मियों की गोली से मारा गया जबकि दूसरा रुपानी क्षेत्र में निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के दौरान झड़प में मारा गया.

पुलिस अधिकारी भीम ढकाल के अनुसार प्रदर्शकारियों के हिंसक हो जाने के कारण पुलिस को मजबूरी में यह क़दम उठाना पड़ा. इन झड़पों मेें प्रदर्शकारियों और पुलिसकर्मियों समेत 40 से ज़्यादा लोग गंभीर रुप में घायल भी हुए हैं.

प्रदर्शनकारियों के नेता लक्षमण लाल कर्ण के अनुसार पुलिस का दावा ग़लत है कि प्रदर्शनकारी हिंसक हो गए थे. कर्ण ने कहा कि वे लोग शांतिपूर्ण तरीक़े से प्रदर्शन कर रहे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)