किसी और के जुर्म के लिए भुगती 23 साल जेल

रॉबर्ट जोंस इमेज कॉपीरइट BBC Trinity Mirror

अमरीका में एक व्यक्ति को किसी और के अपराध के लिए 23 साल से अधिक समय जेल में गुजारना पड़ा.

42 साल के रॉबर्ट जोंस ने शुक्रवार को लूजियाना की ओरलियंस पेरिश जेल से बाहर निकलने के बाद कहा, "यह मेरे लिए बहुत बड़ा दिन है."

उन्हें बलात्कार, लूट और ब्रितानी पर्यटक जूली स्कॉट की हत्या के जुर्म में 1992 में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी.

लेस्टर जोंस नाम के एक अन्य व्यक्ति को स्कॉट की हत्या का दोषी क़रार दिए जाने के बावजूद रॉबर्ट को जेल भेजा गया.

इस बात के पुख्ता सबूत थे कि जिन अपराधों के आरोप रॉबर्ट पर लगे थे उनकी कड़ी लेस्टर से जुड़ती थी.

सरकारी वकीलों ने रॉबर्ट के मामले की सुनवाई के दौरान अहम सबूत को दबाए रखा.

गत जून में लूजियाना की एक अदालत ने अपने फ़ैसले में कहा कि रॉबर्ट के मामले की निष्पक्ष सुनवाई नहीं हुई लेकिन वह जेल में ही रहे.

इस मामले की जांच करने वाले अधिकारी और रॉबर्ट के मामले के न्यायाधीश ने पिछले महीने बीबीसी न्यूज़ से कहा कि वे इस सजा को न्याय की विफलता मानते हैं.

इस सप्ताह एक न्यायाधीश ने कहा कि रॉबर्ट ज़मानत पर जेल से बाहर निकल सकते हैं लेकिन उनके मामले की दोबारा सुनवाई होगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार