एक शहर को सूरज से रोशन करने की कोशिश

Image caption मोरक्को सौर्य ऊर्जा प्लांट

अफ्रीकी देश मोरक्को में अगले महीने से एक ऐसे बड़े प्लांट को शुरू किया जा रहा है जो सौर ऊर्जा से एक शहर को रौशन करेगा.

ये सोलर थर्मल प्लांट वरज़ाज़ात शहर में लगाया जाएगा जो सूरज की गर्मी का प्रयोग नमक को पिघलाने में करेगा और इससे मिलने वाली गर्मी से शाम को एक भाप टरबाइन को चलाया जाएगा.

पहले चरण में ये प्लांट अंधेरा होने के बाद तीन घंटों के लिए बिजली मुहैया कराएगा. बाद में इस प्लांट से हर दिन 20 घंटे के लिए बिजली हासिल करने का लक्ष्य रखा गया है.

मोरक्को 2020 तक अपनी ज़रूरत की 42 प्रतिशत बिजली अक्षय उर्जा से हासिल करना चाहता है, इस प्लांट को इसी उद्देश्य के तहत लगाया जा रहा है.

संयुक्त राष्ट्र ने मोरक्को के इस लक्ष्य का स्वागत किया है क्योंकि ब्रिटेन जैसे अमीर देश ने 2020 तक अक्षय ऊर्जा से अपनी ज़रूरत की 30 प्रतिशत बिजली हासिल करने का लक्ष्य रखा है.

सऊदी अरब में निर्मित वरज़ाज़ात सोलर थर्मल प्लांट पूरा होने पर दुनिया के सबसे बड़े सोलर प्लांटों में से एक होगा. इसके सोलर पैनल राजधानी रबात जितने क्षेत्रफल में लगाए जाएंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)