कैलिफ़ोर्निया गोलीबारी के संदिग्धों के नाम जारी

इमेज कॉपीरइट EPA

अमरीकी राज्य कैलिफ़ोर्निया के सैन बर्नारडिनो में हुई गोलीबारी में 14 लोग मारे गए हैं और 17 अन्य घायल हुए हैं.

पुलिस कार्रवाई में शामिल एक अधिकारी के मुताबिक़ पुलिस की जवाबी कार्रवाई में दो संदिग्ध हमलावर भी मारे गए हैं. इनमें एक पुरुष और एक महिला शामिल हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

पुलिस ने मारे गए संदिग्ध हमलावरों के नाम जारी किए हैं. एक का नाम सैय्यद फ़ारुक़ जबकि दूसरे का नाम तशफ़ीन मलिक बताया गया है.

सैय्यद फ़ारूक़ राज्य के स्वास्थ्य विभाग में काम करते थे.

पुलिस ने एक तीसरे व्यक्ति को हिरासत में लिया है लेकिन अभी ये साफ़ नहीं हो पाया है कि उस व्यक्ति का इस गोलीबारी से सीधा कोई संबंध है या नहीं.

सैन बर्नारडिनो के पुलिस प्रमुख के अनुसार गोलीबारी विकलांग लोगों के लिए बनाए गए एक सामाजिक सेवा केंद्र पर उस समय हुई जब वहां एक कार्यक्रम चल रहा था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

पुलिस को इमारत में एक संदेहास्पद बैग भी मिला था जिसमें विस्फोटक होने की आशंका जताई गई थी. बैग मिलने के बाद इमारत को ख़ाली करा लिया गया था.

लेकिन अभी तक विस्फोटक मिलने की पुष्टि नहीं हो पाई है.

शहर के पुलिस प्रमुख के मुताबिक़ हमलावर सैनिकों की तरह कपड़े पहने हुए थे और भारी हथियारों से लैस थे.

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक़ हमला होते ही लोगों ने बचने के लिए अपने आपको कमरों में क़ैद कर लिया.

इमेज कॉपीरइट AP

बीबीसी संवाददाता जेम्स कूक के ट्वीट के मुताबिक़ एफ़बीआई ने कहा है कि यह चरमपंथी हमला हो सकता है. लेकिन वो अभी तक यह नहीं जान पाए हैं कि यह क्या है. वो हमले की जांच कर रहे हैं.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अमरीका में गोलीबारी का एक पैटर्न है जिसकी मिसाल दुनिया में और कहीं नहीं मिलती.

उन्होंने आगे कहा, ''हमलोग इस बारे में कोई क़दम तो उठा सकते हैं. इस तरह की वारदात को पूरी तरह ख़त्म नहीं कर सकते, लेकिन इतना तो कर ही सकते हैं कि ऐसी घटनाएं कम हों."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)