"मैं हैरान हूं कि वे हमारे पड़ोसी थे"

रेडलैंड में छापा इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीकी राज्य कैलिफ़ोर्निया में सैन बर्नारडिनो गोलीबारी की जांच कर रही एफ़बीआई ने बुधवार को रेडलैंड के एक घर पर छापा मारा.

जांचकर्ताओं के मुताबिक़ रिवरसाइड स्थित ये घर गोलीबारी में शामिल सैयद फ़ारूक का हो सकता है.

गोलीबारी में 14 लोगों की मौत हुई थी और क़रीब 21 लोग घायल हुए थे.

इमेज कॉपीरइट AP

जहां छापा मारा गया वह जगह सैन बर्नारडिनो से 15 मिनट की दूरी पर है.

हालांकि अमरीकी मीडिया के मुताबिक़ ये घर हमलावरों के एक दोस्त का है जिसने गोलीबारी में इस्तेमाल की गई दो राइफ़लें उपलब्ध कराई थीं.

रेडलैंड, लॉस एंजिल्स के पास स्थित 70 हज़ार की आबादी वाला छोटा शहर है. यहां के लोग हमलावर के घर की ख़बर से हैरान हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

संवाददाताओं के मुताबिक़ जांचकर्ता ये जानने की कोशिश में हैं कि फारूक़ और तशफ़ीन ने हमले की योजना अकेले बनाई थी या वे किसी नेटवर्क से जुड़े थे.

पड़ोसी 20 वर्षीय एड्रियन तेजेदा बताते हैं कि वे हमले के एक संदिग्ध को पहले से घर में आते-जाते देख चुके हैं.

उन्होंने कहा, "मैं हैरान हूं कि वे हमारे पड़ोसी थे."

इमेज कॉपीरइट AP

बताया जाता है कि सैयद और तशफ़ीन ने गोलीबारी से पहले अपनी छह महीने की बेटी को इसी इलाके में फ़ारूक की मां के घर छोड़ा था.

परिवार के प्रवक्ता के मुताबिक़ उन्होंने कहा था कि वे डॉक्टर के पास जा रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट KTTV via AP

अमरीका में बंदूक़ों की बिक्री से जुड़े कानून और गोलीबारी की हिंसक घटनाओं को लेकर चर्चा गर्म है.ऐसे में ये जानना अहम होगा कि क्या गोलीबारी में इस्तेमाल हुईं कम से कम दो बंदूक़ें क़ानूनी तौर पर ख़रीदी गई थीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार