इन 10 बातों पर है ट्रंप को पूरा विश्वास

डोनाल्ड ट्रंप इमेज कॉपीरइट Reuters

रिपब्लिकन नेता और उद्योगपति डोनाल्ड ट्रंप ने मुसलमानों के अमरीका में आने पर प्रतिबंध की बात कही है.

कैलिफ़ोर्नियां में हुई गोलीबारी के बाद रिपब्लिकन पार्टी की ओर से अमरीकी राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की दौड़ में शामिल ट्रंप ने ऐसा कहा था.

अपने बयान की कड़ी आलोचना के बाद भी ट्रंप अपनी बात पर अडिग हैं.

पेश हैं वो 10 नीतियां और बातें जिनमें उनका विश्वास है:

1. अमरीकी मस्जिदों की निगरानी होनी चाहिए. ट्रंप मानते हैं कि चरमपंथ को रोकने की पहल के तहत सुरक्षा एजेंसियों को मुसलमानों की निगरानी करनी चाहिए. उन्हें मस्जिदों पर निगरानी रखने के राजनीतिक रूप से ग़लत होने से कोई परेशानी नहीं है.

इमेज कॉपीरइट Getty

2. चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ लड़ाई में अमरीका को कठोर पूछताछ के तरीकों का इस्तेमाल करना चाहिए जिनमें वॉटर बोर्डिंग यानी क़ैदी को बार-बार पानी में डुबोना शामिल हैं. ट्रंप का कहना है कि इस्लामिक स्टेट के सर क़लम करने के तरीक़े की तुलना में ये कुछ भी नहीं है.

3. ट्रंप का कहना है कि वो इस्लामिक स्टेट को भीषण बमबारी कर नष्ट कर देंगे. उनका दावा है कि इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ लड़ाई में और कोई उम्मीदवार उनके जितना कठोर नहीं हो सकता है. उन्होंने कहा कि वे इस्लामिक स्टेट की तेल तक पहुँच रोककर इस संगठन को कमज़ोर करेंगे.

इमेज कॉपीरइट Getty

4. ट्रंप अमरीका और मैक्सिको के बीच एक बड़ी और विशाल दीवार बनाना चाहते हैं ताकि प्रवासी और सीरियाई शरणार्थी अमरीका में न घुस सकें. ट्रंप का मानना है कि अमरीका में आने वाले ज़्यादातर मैक्सिकोवासी अपराधी क़िस्म के होते हैं. उन्होंने कहा, “वे ड्र्गस लाते हैं और अपराध करते हैं. वे बलात्कारी होते हैं.” ट्रंप का कहना है कि दीवार बनाने के लिए पैसा मैक्सिको को देना चाहिए. बीबीसी के अनुमान के मुताबिक़ ऐसी दीवार पर 2.2 अरब डॉलर से 13 अरब डॉलर तक का ख़र्च आ सकता है.

इमेज कॉपीरइट AFP

5. वे अमरीका में रह रहे क़रीब एक करोड़ दस लाख अवैध प्रवासियों को वापस भेजना चाहते हैं. उनके इस विचार को बेहद महंगा और विदेशी मूल के लोगों के ख़िलाफ़ नफ़रत फ़ैलाने वाला माना जा रहा है और उसकी आलोचना हो रही है. बीबीसी के अनुमान के मुताबिक़ इस पर क़रीब 114 अरब डॉलर का ख़र्च आ सकता है. वे पैदा होने पर नागरिकता देने की नीति को भी बंद करना चाहते हैं. इस नीति के तहत अमरीका में पैदा होने वाले हर बच्चे को अमरीकी नागरिकता का अधिकार होता है.

इमेज कॉपीरइट Getty

6. ट्रंप का कहना है कि उनके व्लादिमीर पुतिन से संबंध बहुत अच्छे रहेंगे. सीएनएन को दिए एक साक्षात्कार में ट्रंप ने कहा था कि पुतिन और ओबामा एक दूसरे को इतना नापसंद करते हैं कि वार्ता से ही कतराते हैं. ट्रंप ने कहा- "मुझे लगता है कि मेरे और पुतिन के बीच रिश्ते बेहतर रहेंगे और जो समस्याएं अभी अमरीका को हो रही हैं वो नहीं होंगी."

इमेज कॉपीरइट Getty

7. ट्रंप चाहते हैं कि कई मुद्दों पर चीन को सबक सिखाए जाने की ज़रूरत है ताक़ि अमरीका के साथ व्यापार को उचित और निष्पक्ष बनाया जा सके. उन्होंने कहा कि अगर वो राष्ट्रपति चुने जाते हैं तो वो चीन को अपनी मुद्रा की क़ीमत घटाने से रोकेंगे और उसे अपने पर्यावरण और मज़दूरी स्तर को सुधारने के लिए मजबूर करेंगे.

8. ट्रंप का कहना है कि जलवायु परिवर्तन सिर्फ़ मौसम का मामला है. ट्रंप मानते हैं कि साफ़ हवा और साफ़ पानी महत्वपूर्ण है लेकिन वे जलवायु परिवर्तन को फ़र्ज़ी मानते हैं और कहते हैं कि उद्योगों पर पर्यावरण संबंधी प्रतिबंध उन्हें वैश्विक बाज़ार में कम प्रतियोगी बनाते हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty

9. दुनिया बेहतर होती यदि सद्दाम हुसैन और मोहम्मद गद्दाफ़ी ज़िंदा होते. ट्रंप ने सीएनएन से कहा था कि लीबिया और इराक़ में हालात दोनों शासकों के समय से कहीं ज़्यादा ख़राब हैं.

10. ट्रंप का दावा है कि वह बहुत ही अच्छे इंसान हैं. हाल में रिलीज़ हुई अपनी किताब क्रिप्ल्ड अमेरिका में ट्रंप लिखते हैं, “मुझ पर विश्वास करो, मैं बहुत ही अच्छा इंसान हूँ और मुझे एक अच्छा इंसान होने पर गर्व है, लेकिन मैं अपने देश को फिर से महान बनाने के लोकर प्रतिबद्ध और जोशीला भी हूँ.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार