भारत-पाक संयुक्त बयान की 5 प्रमुख बातें

सुषमा स्वराज, सरताज अज़ीज़ इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ से इस्लामाबाद में मुलाक़ात की है और विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अज़ीज़ के साथ विभिन्न मुद्दों पर विचार विमर्श किया है.

इमेज कॉपीरइट MEA

मुलाक़ात और विचार-विमर्श के बाद एक संयुक्त बयान जारी किया गया है जिसकी प्रमुख बातें इस प्रकार हैं-

1. दोनों पक्ष व्यापक द्विपक्षीय संवाद के लिए तैयार हो गए हैं.

2. दोनों देशों के विदेश सचिव इसकी तारीख़ और रूपरेखा तय करेंगे.

3. दोनों पक्ष जम्मू कश्मीर, सियाचिन, सर क्रीक, तुलबुल परियोजना, आर्थिक और वाणिज्यिक सहयोग, चरमपंथ के खिलाफ़ कार्रवाई, मादक पदार्थों की रोकथाम और मानवीय मुद्दों पर संवाद करेंगे.

4. दोनों पक्षों ने चरमपंथ की आलोचना की है और बैंकॉक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की मुलाक़ात को सफल बताया है.

5. भारतीय पक्ष को भरोसा दिलाया गया है कि मुंबई हमलों के मामले में जारी अदालती कार्यवाही जल्द से जल्द पूरी की जाएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार