मोहम्मद अली ने की ट्रंप की निंदा

मुहम्मद अली इमेज कॉपीरइट AP

मुक्केबाज़ी के दिग्गज खिलाड़ी रहे मोहम्मद अली ने राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की दौड़ में शामिल रिपब्लिकन नेता डोनाल्ड ट्रंप के बयान की आलोचना की है.

ट्रंप ने कहा था कि अमरीका में मुसलमानों के आने पर पूरी तरह रोक लगा देनी चाहिए.

ट्रंप का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि मुसलमानों को ''उन लोगों के ख़िलाफ़ खड़े होना पड़ेगा जो इस्लाम का इस्तेमाल निजी फ़ायदे के लिए करते हैं.''

73 साल के मोहम्मद अली तीन बार विश्व मुक्केबाज़ी चैंपियन रह चुके हैं.

मोहम्मद अली ने ट्रंप के बयान की ओर इशारा करते हुए कहा, ''ऐसा करके उन्होंने कइयों को इस्लाम के बारे में जानने से रोक दिया है.''

इमेज कॉपीरइट Getty

उन्होंने इस्लामिक स्टेट के जिहादियों की हिंसक गतिविधियों की भी कड़ी आलोचना की.

मोहम्मद अली ने कहा, ''एक सच्चा मुसलमान जानता है कि तथाकथित इस्लामिक स्टेट के जिहादियों की क्रूर हिंसा हमारे धर्म के सिद्धांतों के ख़िलाफ़ है. इन गुमराह हत्यारों ने इस्लाम वास्तव में क्या है, इस पर लोगों के विचारों को विकृत कर दिया है.''

वहीं व्हाइट हाउस का कहना है कि मुसलमानों के लिए अपनी टिप्पणी के कारण डोनाल्ड ट्रंप राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी के लिए 'अयोग्य' हो गए हैं.

लेकिन डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि तमाम आलोचनाओं के बावजूद वो राष्ट्रपति पद की दौड़ से कभी भी बाहर नहीं होंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार