'दुनिया का तापमान डेढ़ डिग्री तक ही बढ़ने देंगे'

पेरिस जलवायु समझौता इमेज कॉपीरइट AFP

जलवायु परिवर्तन पर पेरिस में समझौते के मसौदे पर सहमति बन गई है.

190 से अधिक देशों के इस अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन के आयोजकों ने यह जानकारी दी है.

फ्रांस के विदेश मंत्री लॉरोंग फेब्यूस के कार्यालय के एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया कि इस मसौदे को भारतीय समयानुसार शाम तीन बजे मंत्रियों के सामने रखा जाएगा.

इमेज कॉपीरइट AFP

क़रीब दो सप्ताह की गहन बातचीत और सम्मेलन ख़त्म होने की समय सीमा के क़रीब 16 घंटे बाद के बाद यह सहमति बन पाई. सम्मेलन शुक्रवार को ख़त्म होना था, पर इसे एक दिन के लिए बढ़ाया गया था.

अब तक समझौते के बिंदुओं के बारे में विस्तृत जानकारी नहीं दी गई है.

अधिकारी ने कहा, "समझौते का मसौदा तैयार है." उन्होंने साथ ही कहा कि इसका संयुक्त राष्ट्र की छह आधिकारिक भाषाओं में अनुवाद होगा.

अध्यक्षता कर रहे फेब्यूस ने पहले कहा था कि एक सशक्त और महत्वाकांक्षी समझौते के लिए इससे बेहतर परिस्थितियां कभी नहीं थीं.

इमेज कॉपीरइट AP

पेरिस में मौजूद बीबीसी के पर्यावरण संवाददाता मैट मैक्ग्रा के मुताबिक़ कई मुद्दों पर अहम प्रगति हुई है.

उन्होंने कहा कि देशों ने दो डिग्री सेल्सियस तापमान के लक्ष्य का समर्थन किया है लेकिन इसे 1.5 डिग्री सेल्सियस रखने के लिए हरसंभव प्रयास करने पर सहमति जताई है.

लेकिन उत्सर्जन में कमी के लिए जैसी भाषा का इस्तेमाल किया गया है, उसकी आलोचना हो रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार