चीन का विरोध लेकिन ताइवान को हथियार देगा यूएस

बराक ओबामा इमेज कॉपीरइट epa

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने ताइवान को बड़ी मात्रा में हथियार बेचने को मंज़ूरी दे दी है.

चीन ने अमरीका के ताइवान को हथियार बेचने पर आपत्ति जताई है.

अमरीका ताइवान 1.8 अरब डॉलर के हथियार देने जा रहा है.

इसमें दो नौसेना के पोत, हमले में इस्तेमाल होने वाली बख़्तरबंद गाड़ियां, टैंक विरोधी मिसाइलें और विमानों पर वार करने वाली मिसाइलें शामिल होंगी.

अमरीका ने सफाई दी है कि ताइवान को ये हथियार आत्मसुरक्षा के लिए दिए जा रहे हैं और अब भी अमरीका 'एक चीन' की नीति का सम्मान करता है.

इमेज कॉपीरइट Getty

लेकिन चीन ने कहा है कि वह ताइवान को हथियार या सैन्य तकनीक देने का विरोध करता है.

चीन ताइवान को 'एक चीन' की नीति के तहत अपने प्रांत की तरह देखता है, लेकिन ताइवान के लोग ख़ुद को स्वतंत्र देश मानते हैं.

दक्षिण चीन सागर में प्रभुत्व को लेकर भी चीन अपने पड़ोसी देशों विएतनाम, मलेशिया, फ़िलिपीन्स, ताइवान और अमरीका से अकसर टकराव की स्थिति में रहता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार