शकरेली धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ़्तार

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका की एक दवा कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी मार्टिन शकरेली ने अपने ऊपर लगे धोखाधड़ी के आरोपों से इनकार किया है.

इसी साल सितंबर में एड्स की दवा डाराप्रिम की कीमत में 5000 प्रतिशत बढ़ोतरी करने के कारण शकरेली को लोगों का गुस्सा झेलना पड़ा था. हालांकि शकरेली की दलील थी कि इस दवा से होने वाले मुनाफ़े का इस्तेमाल वो भविष्य के लिए बेहतर दवा बनाने के लिए करेंगे.

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीकी जाँच एजेंसी एफ़बीआई ने उन्हें गिरफ़्तार किया. बाद में पचास लाख डॉलर की जमानत पर उन्हें रिहा कर दिया गया और घर जाने की इजाजत दी गई.

शकरेली पर दवा कंपनी रेट्रोफ़िन का प्रमुख रहते और एमएसएमबी कैपिटल मैनेजमेंट का फंड मैनेजर रहते धोखाधड़ी करने के आरोप हैं.

शकरेली अभी ट्यूरिंग दवा कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

शकरेली पर एक पॉन्जी योजना चलाने का आरोप है जिसमें एमएसएमबी को लाखों डॉलर का घाटा होने की स्थिति में उन्होंने रेट्रोफ़िन की संपत्ति से कर्ज़ चुकाया.

गुरुवार को एक संवाददाता सम्मेलन में अमरीकी एटॉर्नी रॉबर्ट केपर्स ने कहा कि शकरेली ने वेब के जरिए कई निवेशकों को झूठ और धोखे से अपने जाल में फंसाया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार