ग्वांतानामो जेल बंद करके रहूंगाः ओबामा

ग्वांतानामो बे जेल इमेज कॉपीरइट Getty

राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि अगर अमरीकी संसद ने ग्वांतानामो बे जेल बंद करने को मंज़ूरी नहीं दी तो वो अपना वीटो अधिकार इस्तेमाल करेंगे.

शुक्रवार को वाशिंगटन में पत्रकारों से बात करते हुए ओबामा ने कहा कि वो संसद के सामने ग्वांतानामो बे जेल को बंद करने का प्रस्ताव रखेंगे और इसके नामंजूर होने की स्थिति में अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करेंगे.

उन्होंने उम्मीद जताई है कि अमरीकी कांग्रेस इस प्रस्ताव को मंजूरी दे देगी.

राष्ट्रपति ओबामा चाहते हैं कि क्यूबा के एक द्वीप पर संचालित ये जेल उनके राष्ट्रपति रहते ही बंद हो जाए.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

बराक ओबामा ने उम्मीद ज़ाहिर की है कि नए साल में इस जेल में क़ैदियों की संख्या 100 से कम रह जाएगी.

गुरुवार को अमरीका ने अगले कुछ दिनों में ग्वांतानामो बे जेल से 17 क़ैदियों को रिहा करने का इरादा ज़ाहिर किया था.

इस रिहाई के बाद वहां क़ैदियों की संख्या 90 रह जाएगी जिनमें से भी अधिकतर की रिहाई को मंजूरी दी जा चुकी है.

इमेज कॉपीरइट AP

ये जेल 'चरमपंथ के ख़िलाफ़ जंग' की शुरुआत के बाद साल 2002 में शुरू की गई थी और यहां उन लोगों को रखा जाता था जिन्हें अमरीकी सरकार 'चरमपंथी' घोषित करती थी.

ग्वांतानामो बे में पहली बार 11 जनवरी 2002 को बीस क़ैदी लाए गए थे और इसके बाद से यहाँ अब तक कुल 780 लोगों को रखा जा चुका है जिनमें से अधिकतर पर ना ही कोई आरोप तय किए गए और न ही मुक़दमा चलाया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार