प्रदूषण के लिए पिज़्ज़ा ज़िम्मेदार!

पिज़्ज़ा इमेज कॉपीरइट Thinkstock

इटली के एक क़स्बे में बढ़ते प्रदूषण पर काबू पाने के लिए पारंपरिक रूप से पिज़्ज़ा बनाने पर अस्थायी रूप से रोक लगा गई है.

नेपल्स के ठीक बाहर मौजूद सैन विटेलियानो के मेयर ने एक शासनादेश जारी कर बेकरियों और भोजनालयों में लकड़ी से जलने वाले चूल्हों पर रोक लगा दी है, इनमें पिज़रीज़ (पिज़्ज़ा बनाने दुकान) भी शामिल हैं.

उन्हें वायु प्रदूषण कम करने वाले विशेष फ़िल्टर लगाने होंगे.

हवा की गुणवत्ता गिरने पर 'अधिकतम चिंता' की वजह से ये क़दम उठाए गए हैं और ये 31 मार्च तक लागू रहेंगे. अगर नई फ़िल्टर प्रणालियां नाकाम रही तो इन्हें फिर लागू किया जा सकता है.

इमेज कॉपीरइट AFP

प्रतिबंध लागू करने के लिए पुलिस जांच करती रहेगी और मेयर के आदेश का उल्लंघन होने पर 1032 यूरो (करीब 74,944 रुपए) जुर्माना भी लगाया जा सकता है.

हवा की ख़राब गुणवत्ता सैन विटेलियानो की पुरानी समस्या है. इल माटिनो अख़बार के अनुसार यह बीजिंग से ज़्यादा प्रदूषित है.

हालांकि पड़ोसी नेपल्स को हवा की गुणवत्ता के मामले में आमतौर पर इटली का सबसे बड़ा अपराधी माना जाता है.

अख़बार के अनुसार 2015 में सैन विटेलियानो ने उत्सर्जन सीमा को 114 बार पार किया. इसके मुक़ाबले मिलान ने 86 बार उत्सर्जन सीमा को पार किया.

इमेज कॉपीरइट AFP

इस पर सबको यक़ीन नहीं कि पिज़्ज़ा बनाना समस्या की जड़ है. स्थानीय निवासियों और पिज़्ज़ा बनाने वालों ने रविवार को मेयर के फ़ैसले के ख़िलाफ़ टाउन हॉल के आगे प्रदर्शन किया.

कोरीरे डेला सेरा की एक ख़बर के अनुसार, इनमें एक ने कहा, "धुंध की वजह हम नहीं हो सकते. सैन विटेलियानो के मुक़ाबले नेपल्स में कई पिज़रीज़ (पिज़्ज़ा बनाने दुकान) हैं लेकिन वहां प्रदूषण स्तर यही नहीं है."

"यह साफ़ है कि वह असली वजह पर ध्यान नहीं देना चाहते. यह फ़ैसला हम पर भारी पड़ने वाली ग़लती है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं. बीबीसी न्यूज़ फ़्रॉम एल्सवेयर दुनिया भर के टीवी, रेडियो, वेब और प्रिंट माध्यमों में प्रकाशित होने वाली ख़बरों पर रिपोर्टिंग और विश्लेषण करता है. बीबीसी न्यूज़ फ़्रॉम एल्सवेयर की ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.)

संबंधित समाचार