बंदूक कानून पर ओबामा सख़्त

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने एक बार फिर बंदूकों की बिक्री पर लगाम कसने की बात छेड़ दी है.

बराक ओबामा ने एफ़बीआई निदेशक और अटॉर्नी जनरल से अमरीका में बंदूकों पर सख़्त पाबंदी लगाने की अपनी योजना पर चर्चा की है.

व्हाइट हाउस ने राष्ट्रपति की योजना के बारे में बताते हुए कहा कि अब सभी बंदूक विक्रेताओं को पंजीकरण कराना होगा. यही नहीं दूकानदारों के पास बंदूक खरीदने वालों की पृष्ठभूमि की जानकारी होनी चाहिए.

इमेज कॉपीरइट AP

अधिकारियों का कहना है कि बंदूकों पर लगाम लगाने के लिए 'प्राइवेसी लॉ' में संशोधन लाया जाएगा. ये संशोधन बंदूक रखने वाले की मानसिक स्थिति जांचने के ख़िलाफ मौजूद कानूनी अड़चनों को हटाने के लिए जरूरी है.

बराक ओबामा का कहना है कि बंदूकों की बिक्री पर लगाम लगाने से भले ही गोलीबारी की सभी घटनाएं न रुकें, लेकिन इससे कई जिंदगियां जरूर बचाई जा सकती हैं.

ओबामा ने संसद को दरकिनार करते हुए सीधे आदेशों के ज़रिए नए नियमों को लागू करने के अपने प्रस्तावों का बचाव किया है.

इमेज कॉपीरइट WATE 6 ON YOUR SIDE

उनका कहना है कि ये क़दम उनके क़ानूनी अधिकारों के तहत ही उठाया जा रहा है.

टेक्सस में बंदूकों की दुकान चलाने वाले जेम्स हिलिन को ओबामा की नई योजना की कामयाबी पर शक़ है.

वे कहते हैं, "जब भी राष्ट्रपति बंदूकों पर नियंत्रण की बात करते हैं लोग अधिक बंदूकें ख़रीदने लगते हैं क्योंकि लोग अपनी रक्षा करने में सक्षम होना चाहते हैं. इसलिए पहले से मौजूद क़ानूनों को सख़्ती से लागू करने के लिए नए क़ानून लाने से कोई फ़ायदा नहीं होगा. जो क़ानून पहले से ही मौजूद हैं उन्हें लागू करने से ज़्यादा मदद मिलेगी."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार