अटलांटिक महासागर की 10 रोमांचक तस्वीरें

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption फ़ोटो क्रेडिट- डेव मदरशॉ

अटलांटिक महासागर पृथ्वी की 20 फ़ीसदी सतह पर फैला हुआ है और प्रशांत महासागर के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा महासागर है.

पृथ्वी पर उत्तरी ध्रुव में आर्कटिक से लेकर दक्षिण अमरीका, यूरोप और अफ़्रीका तक फैले इस सागर के ज्वालामुखियों, जीव-जंतुओं और समुद्रतट की दुनिया बहुत रहस्यमयी है.

बीबीसी और नेशनल ज्योग्राफिक की संयुक्त सीरीज़ 'अटलांटिक - द वाइल्डेस्ट ओशन ऑन अर्थ' बनाने के दौरान इसके निर्माताओं ने इस महासागर की विविधरंगी दुनिया की कुछ तस्वीरें भी लीं.

अटलांटिक महासागर में तीन मीटर चौड़ी मोबुला और बाराकुडा मछलियां पोषणयुक्त पानी में अपने भोजन की तलाश में 1000 मीटर (3280 फ़ीट) नीचे तक पहुंच जाती हैं.

ऊपर की तस्वीर अजोर्ज़ टापुओं के पास समुद्र के नीचे पर्वतों के उपरी हिस्से की है. समुद्र के नीचे पर्वतों की मौजूदगी समुद्र जीवों के जीवन के लिए बेहद ज़रूरी है.

इस विशाल महासागर को रहस्यमयी माना जाता है इसके पानी के शानदार प्रवाह, नाटकीय अंडरवाटर ज्वालामुखियों और वन्य जीवों के विविधरंगी संसार के कारण.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption फ़ोटो क्रेडिट- टेड गिफ्रोड्स

अटलांटिक महासागर की कुछ वनस्पतियां ख़ुद से चमकती हैं क्योंकि यहां तो सूर्य की रोशनी नहीं पहुंचती है.

उपर की तस्वीर में इन वनस्पतियों के रंग को देखिए, अल्ट्रावायलेट रंग की चमक बिलकुल प्राकृतिक है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption फ़ोटो क्रेडिट- कोरीन कैविलएर

टारपोन नाम की यह समुद्री मछली अपने शिकार पर तूफ़ानी गति से हमला करती है. शिकार पर यह क़रीब 64 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से हमला करती है. यह बड़े आकार की मछली है. इसकी लंबाई अमूमन 2.5 मीटर की होती है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

नार्दन लाइट्स की इस तस्वीर को देख कर चौंकिए नहीं. यह अटलांटिक महासागर में नहीं देखी जा सकती है. उत्तरी ध्रुव के आसमान में ही यह नज़र आती है. दरअसल विद्युतीय आवेशित कणों के पृथ्वी के वायुमंडल और चुम्बकीय क्षेत्र में आने पर होने वाली टक्कर से यह रोशनी पैदा होती है. बहरहाल, यह तस्वीर आकर्टिक नॉर्वे से ली गई है जो अटलांटिक महासागर से सटा हुआ है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption फ़ोटो क्रेडिट- डेव मदरशॉ

'अटलांटिक - द वाइल्डेस्ट ओशन ऑन अर्थ' कार्यक्रम बनाने में शामिल कैमरामैन रोजर होरोक्स ने एजोरेक्स द्वीप पर ख़तरनाक व्हेल को कुछ इस अंदाज़ में अपने कैमरे में क़ैद किया. व्हेल सिलिंडर वाले आकार के होने और शानदार तैराक होने के चलते अटलांटिक महासागर के विशाल दायरे तक सफ़र कर लेती हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption फ़ोटो क्रेडिट- डेव मदरशॉ

अटलांटिक महासागर के इलाक़ों में काले और सफ़ेद रंग का पक्षी इम्पीरियल शैग पाया जाता है, जो अपने शिकार के लिए पानी में ग़ोता भी लगा सकता है. इसके शरीर पर कोई चर्बी नहीं होती है. पांव बेहद मज़बूत होते हैं जबकि पैर झिल्लीदार होते हैं. इस तस्वीर में ये पक्षी फॉल्कलैंड द्वीप से सटे पठारों पर बसेरा डाले दिख रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption फ़ोटो क्रेडिट- कोरीन कैविलएर

इस तस्वीर में व्हेल अपने बच्चे के साथ आराम की मुद्रा में दिखाई दे रही है. यह तस्वीर डोमेनिक रिपब्लिक के सिल्वर बैंक के शांत जल की है. सिल्वर बैंक काफ़ी मशहूर है. यहां शताब्दियों पहले कई स्पेनिश जहाज़ डूब गए थे.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption फ़ोटो क्रेडिट- टेड गिफ्रोड्स

मिड-अटलांटिक रिज़ पृथ्वी पर पर्वतों की सबसे लंबी श्रृंखला के लिए मशहूर है. इस तस्वीर में कैमरामैन रोजर होरोक्स एजोरा द्वीप समूह के पास से गुज़रने वाली मछलियों का वीडियो बना रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption फ़ोटो क्रेडिट- डेविड मदरशॉ

यह फॉल्कलैंड द्वीप समूह पर समुद्री शेरों की तस्वीर है. ये शेर पानी के अंदर पेंगुइन का पीछा करने में भी सक्षम हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption फ़ोटो क्रेडिट- मेडेलिना बोटो

मध्य अटलांटिक महासागर में पश्चिमी अफ़्रीका के तट से क़रीब 570 किलोमीटर दूसर केप वर्डे स्थित है. यह 10 ज्वालामुखीय द्वीपों का देश है. यहां के मछुआरे अपने प्लास्टिक की नावों में मछली पकड़ने के लिए अटलांटिक महासागर में निकलते हैं.

अंग्रेज़ी में मूल लेख यहां पढ़ें, जो बीबीसी अर्थ पर उपलब्ध है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार