अंटार्कटिका पार करने की पहली कोशिश में दम तोड़ा

हेनरी वर्सले इमेज कॉपीरइट

पहली बार अंटार्कटिका को अकेले पार करने में जुटे हेनरी वर्सले की मौत हो गई है.

55 वर्षीय पूर्व ब्रितानी सैन्य अधिकारी वर्सले बिना मदद के अंटार्कटिका को पार करने वाले पहले व्यक्ति बनने का प्रयास कर रहे थे.

लेकिन अभियान के दौरान थकावट और शरीर में पानी की कमी से उनकी मौत हुई.

वर्सले के मिशन का यह 71वां दिन था. उनकी पत्नी जोआना ने उनकी मौत की जानकारी दी.

उनकी ओर से जारी बयान में कहा गया है कि शरीर के अंगों के काम करना बंद करने के कारण वर्सले की मौत हुई है.

वर्सले ने 80 दिनों की 1770 किलोमीटर लंबी योजनाबद्ध ट्रैकिंग नवंबर में शुरू की थी.

वे अपने भोजन, सामान और टेंट से लदी स्लेज खींच रहे थे.

उनकी योजना कुत्तों या किसी अन्य स्रोत से कोई मदद न लेने की थी. वे एयरड्राप के ज़रिए भी कोई आपूर्ति नहीं ले रहे थे.

अपने इस अभियान के ज़रिए उनका इरादा घायल और बीमार सैनिकों की मदद के लिए एक करोड़ रुपए जुटाना था.

अक्तूबर में उन्होंने बीबीसी से कहा था कि उनका इस अभियान के दौरान क़रीब तेरह किलो वजन कम हो जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)