पठानकोट जांच को सार्वजनिक करेंगे: शरीफ़

इमेज कॉपीरइट AFP

पठानकोट हमले के क़रीब एक महीने बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने कहा है कि पाकिस्तान जल्द ही इस हमले की जांच रिपोर्ट को सार्वजनिक करेगा.

इस हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाली विदेश सचिव स्तरीय वार्ता को टाल दिया गया था.

हालांकि इससे कुछ दिन पहले ही भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाहौर में नवाज़ शरीफ़ से मुलाक़ात की थी.

लाहौर में मीडिया से बातचीत के दौरान नवाज़ शरीफ़ ने कहा, ''पठानकोट घटना की जांच जारी है और हम इसके नतीजों को जल्द ही जनता के सामने रखेंगे.''

उनका कहना था, ''चाहे इसके जो नतीजे आएं हम इसे हर किसी के सामने रखेंगे.''

शरीफ़ ने वादा किया कि पाकिस्तान दो जनवरी को पठानकोट के एयरबेस पर हुए हमले की तह तक जाएगा, जिसमें जैश ए मोहम्मद के चरमपंथियों के शामिल होने के आरोप लग रहे हैं.

नए साल की शुरुआत पर भारत के पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले में सात भारतीय सुरक्षाकर्मी मारे गए थे.

इमेज कॉपीरइट EPA

शरीफ़ का कहना था, ''ये हमारी ज़िम्मेदारी है कि हम पता लगाएं कि इस हमले में हमारी ज़मीन का इस्तेमाल हुआ था या नहीं. हम यह पता लगाएंगे और जो जांच चल रही है वह जल्द ही पूरी हो जाएगी.''

उनका कहना था कि चरमपंथियों को निशाना बनाया जा रहा है और वो हताशा में अपनी मौजूदगी दर्ज कराने के लिए हमले कर रहे हैं.

इस बीच, पाकिस्तान प्रशासित पंजाब के क़ानून मंत्री राना सनाउल्लाह ने कहा कि हमले के संबंध में पकड़े गए किसी भी संदिग्ध पर अभी तक कोई आरोप तय नहीं हुआ है.

सनाउल्लाह ने पत्रकारों को बताया कि ''मामले की जांच हो रही है और इसके नतीजे जल्द ही अवाम के सामने रखे जाएंगे.''

इमेज कॉपीरइट EPA

इस बारे में पूछे जाने पर कि क्या इस हमले में जैश के चरमपंथी शामिल थे, उन्होंने कहा कि ''जांच टीम इसका भी पता लगा रही है.''

नवाज़ शरीफ़ ने पठानकोट हमले की जांच के लिए पंजाब के चरमपंथ निरोधी विभाग के आईजी की अध्यक्षता में छह सदस्यों की एक कमेटी गठित की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार